2019 की नीति पर यूपी में फिर रण सजा सकते हैं अम‍ित शाह, जान‍िए इस बार क्‍या हैं चुनौत‍ियां

लखनऊ,राज्यब्यूरो।जातीयप्रभाववालेविभिन्नदलोंकेनेताओंकोअपनेपालेमेंलेकरसपामुखियाअखिलेशयादवअपनीफौजमजबूतकररहेहैंतोभाजपाअपनेकिलेकोअभेद्यबनानेमेंजुटगईहै।यूंतोमिशन-2022कीकमानअनुभवीहाथोंमेंहीहै,लेकिनरणनीतिकोधारदेनेकेलिएवहीअमितशाहआरहेहैं,जोबतौरराष्ट्रीयअध्यक्ष2019मेंसपा-बसपागठबंधनवालेचुनौतीपूर्णचुनावमेंविरोधीखेमेकोचारोंखानेचितकरचुकेहैं।इसबारविधानसभाचुनावकारणवहउसीनीतिपरसजासकतेहैं। केंद्रीयगृहमंत्रीबननेकेबादअमितशाहलखनऊतोआचुकेहैं,लेकिनपार्टीमुख्यालयमेंसंगठनकीबैठकलेनेवहपहलीबारआरहेहैं।जिसतरहसेउनकीबैठकोंकाकार्यक्रमप्रस्तावितहै,इससेसमझाजासकताहैकिवहचुनावीरणनीतिकोहीसमझनेऔरतराशनेकेलिएआरहेहैं।

अव्वलतोवहसंगठनमेंभी'अंत्योदय'केसिद्धांतपरभरोसाकरतेहैं।यहीवजहहैकिप्रदेशप्रभारीकेरूपमें2014मेंजबलोकसभाचुनावकीजिम्मेदारीसंभाली,तबसबसेपहलेबूथअध्यक्षोंकेसम्मेलनकोसंबोधितकरबूथस्तरकेसंगठनकोप्रोत्साहितकिया।इसबारभीवहलखनऊआरहेहैंतोसबसेपहलेडिफेंसएक्सपोमैदानमेंअवधक्षेत्रकेशक्तिकेंद्र(सेक्टर)प्रभारीऔरसंयोजकोंकेसम्मेलनकोसंबोधितकरतेहुएसदस्यताअभियानशुरूकरेंगे।इसकेबादपार्टीमुख्यालयमेंसंगठनकीबैठकेंलेंगे।वहप्रदेशप्रभारीराधामोहनसि‍ंह,चुनावप्रभारीधर्मेंद्रप्रधान,चुनावप्रबंधनप्रभारीअनुरागठाकुर,सभीसह-प्रभारियोंऔरकोरकमेटीकेसाथबैठककरेंगे।गौरकरनेवालीबातयहहैकिउन्होंनेलोकसभाचुनाव2019केसभीलोकसभासंयोजकऔरप्रभारियोंकोभीबुलायाहै।

पार्टीपदाधिकारीमानतेहैंकियहकार्यकर्ता2019केलोकसभाचुनावमेंपार्टीकीरणनीतिकोजमीनीस्तरपरउतारनेमेंसफलरहे।यहीवजहहैकिजबसपा-बसपानेगठबंधनकरमजबूतजातीयगठजोड़बनानेकाप्रयासकिया,तबउसेभीभाजपानेअपनादल(एस)केसाथबेअसरकर80मेंसे64सीटेंजीतलीथीं।अबसपाऔरबसपाबेशकअलगहैं,लेकिनबसपाकेकईनेतासपामेंशामिलहोचुकेहैं।इधर,पूर्वांचलकीकईसीटोंपरप्रभाववालेराजभरसमाजकेनेताऔरसुहेलदेवभारतीयसमाजपार्टी(सुभासपा)केअध्यक्षओमप्रकाशराजभरनेभीअखिलेशकेसाथगठबंधनकरलियाहै।जातीयगठजोड़कीइनचुनौतियोंसेनिपटनेकेलिएभाजपाकेरणनीतिकारशाह2017और2019केचुनावीफार्मूलेकोफिरसेआजमासकतेहैं।साथहीजातियोंकेसामाजिकसम्मेलनोंकेजरिएभाजपाभीअपनेसमीकरणसाधनेमेंलगीहै।

समानहैंचुनावीचुनौतियां: यहसवालहोसकताहैकिभाजपाको2019सेज्यादासीटें2014केलोकसभाचुनावमेंमिलीथीं।2017केविधानसभाचुनावमेंभीप्रचंडबहुमतकेसाथ403मेंसे304सीटेंजीतीं।फिरसफलताकापैमाना2019क्यों?पार्टीपदाधिकारियोंकातर्कहैकि2014और2017मेंभाजपाकेसामनेसत्ताकेप्रतिनाराजगीवालीचुनौतीनहींथी।पार्टीनएचेहरेकेरूपमेंसामनेथी,जबकि2019केलोकसभाचुनावमेंआशंकाथीकिकुछकीनाराजगीकेंद्रसरकारसेरहेगीऔरइधरप्रदेशसरकारकोभीदोवर्षहोचुकेथे।साथहीसपा-बसपाकागठबंधनथा।इसलिहाजसे2022केविधानसभाचुनावकीचुनौतियांलगभग2019केलोकसभाचुनावजैसीहीहैं।

पुरानेकार्यकर्तासक्रियकरनेकीजुगत: शाहकीबैठकमेंप्रदेशकेसभीपूर्वविधायकऔरपूर्वसांसदभीबुलाएगएहैं।इनमेंतमामपूर्वजनप्रतिनिधिअबसंगठनकेकार्योंमेंसक्रियनहींहैं,जबकिक्षेत्रमेंप्रभावरखतेहैं।गृहमंत्रीइनसभीकोआगामीचुनावकेलिएसक्रियकरनाचाहतेहैं।

हरबूथपरसौनएसदस्यबनाएंगे:स्वतंत्रदेव- भाजपाप्रदेशअध्यक्षस्वतंत्रदेवसि‍ंहनेबतायाकिगृहमंत्रीअमितशाहप्रदेशभरकेलिएसदस्यताअभियानकाशुभारंभकरेंगे।लक्ष्यहैकिहरबूथपरनौसदस्यबनाएजाएं।इसकेअलावासंगठनात्मकबैठकोंमेंवहचुनावीतैयारियोंकीसमीक्षाकरमार्गदर्शनदेंगे।