45 करोड़ के घोटाले में सीबीआइ ने दर्ज किए मुकदमे

जागरणसंवाददाता,गाजियाबाद:कारोबारकेनामपर45करोड़रुपयेकेघोटालेकेमामलेमेंसीबीआइकीविशेषअपराधशाखा,लखनऊनेदिल्लीकेदोव्यापारियोंकेखिलाफरिपोर्टदर्जकीहै।मामलायूनियनबैंकआफइंडियाकीगाजियाबादकेकौशांबीस्थितमिडकारपोरेटशाखाकाहै,जिसमेंदोनोंव्यापारियोंनेदिल्लीकेअलग-अलगपतेपरअपनीदोफर्मोंकाकैशक्रेडिटखाताखुलवायाथा।करीब45करोड़रुपयेव्यापारियोंनेबैंकसेलिए,लेकिनभुगताननहींकिया।बादमेंपताचलाकिबंधकरखीगईसंपत्तियोंकेभी2-3गुनादामबताएगएथे।

यूनियनबैंकआफइंडियाकेक्षेत्रीयप्रमुखसरोजकुमारदासकीतहरीरपरदिल्लीकेतिलकबाजारकीमैसर्सजगन्नाथट्रेडर्सवशकरपुरकीमैसर्सकाजूवालाऔरइन्हेंचलानेवालेदोपार्टनरदिल्लीकेयमुनाविहारनिवासीजतिनशर्मावदिल्लीकेचांदनीचौकीनिवासीपवनकुमारशर्माकेखिलाफधोखाधड़ी,फर्जीदस्तावेजतैयारकरनेवइनकाप्रयोगकरनेऔरषड्यंत्ररचनेकेआरोपमेंरिपोर्टदर्जकीगईहै।

शिकायतकेमुताबिकजतिनवपवननेमैसर्सजगन्नाथट्रेडर्सकाखातादिसंबर-2014मेंखुलवायाथा।उससमयक्रेडिटलिमिट20करोड़थी,जिसेदोसालबादपांचकरोड़रुपयेबढ़ादियागयाथा।व्यापारकेनामपरआरोपितोंनेमई-2018तकपूरे25करोड़लेलिएथे।निरीक्षणमेंनियमकेमुताबिकस्टाकनहींमिलाऔरआडिटमेंपताचलाकिकईघोटालेकेलिएलेनदेनफर्जीतरीकेसेचढ़ाएगएथे।

पताचलनेपरदिएगएपैसे

दर्जमुकदमेकेमुताबिकमैसर्सकाजूवालाकेनामसेआरोपितोंनेदिसंबर-2015मेंखाताखुलवायाऔरसितंबर-2016तकक्रेडिटलिमिटकेपूरे20करोड़रुपयेलेलिए।भुगताननहींमिलातोपड़तालमेंफर्जीवाड़ापायागयाहै।दोसालपहलेहीधोखाधड़ीसामनेआनेकेबावजूदमैसर्सकाजूवालाकोरकमदीजातीरही।क्रेडिटलिमिटकेएवजमेंदोनोंखातोंमेंबंधकरखेसंपत्तिकेदस्तावेजमेंभीफर्जीवाड़ापायागया।इन्हेंजब्तकरनेकीप्रक्रियाकेदौरानपताचलाकिबाजारमूल्यक्रेडिटलिमिटकाआधाहीहै।इसकेबादबैंकनेक्षेत्रीयप्रबंधकसेजांचकराईऔरउनकीतहरीरपररिपोर्टदर्जकीगई।

12करोड़काहोगयाब्याज

क्षेत्रीयप्रबंधककीओरसेदीगईशिकायतोंकेमुताबिक45करोड़रुपयेदोनोंफर्मोंकेनामपरदिएगएथे।असलघोटालाइससेकहींअधिकहै।दिसंबर-2019तकब्याजसमेतयहरकमकरीब57करोड़होचुकीथी।वहींसूत्रोंकीमानेतोइसमामलेमेंबैंककेभीकुछअधिकारीसीबीआइकेचंगुलमेंफंससकतेहैं।