आत्महत्या की प्रवृत्ति वाले युवाओं को होता है दिल की बीमारी का सबसे ज्यादा खतरा

जोकिशोरआत्महत्याकीकोशिशकरतेहैं,उनमेंउनकेजीवनके20वेंदशकमेंहृदयरोगहोनेकाखतराकाफीअधिकहोताहै।एकनएशोधसेयहजानकारीमिलीहै।इसशोधकेनिष्कर्षोसेपताचलाहैकिउनयुवापुरुषोंकारक्तचापअधिकहोताहैऔरउनमेंसिस्मेटिकलो-ग्रेडइनफ्लामेशनपायाजाताहै,जिन्होंनेअपनीकिशोरावस्थामेंआत्महत्याकीकोशिशकीथी।येभीपढ़ें: इसगोलीकासेवनआपकोफिरबनादेगाजवान…

वहीं,दूसरीतरफअगरकिसीकिशोरीनेआत्महत्याकीकोशिशकीहोतोआगेचलकरयुवावस्थामेंउसकेमोटापेसेग्रसितहोनेकीसंभावनाज्यादाहै। अमेरिकायुनिवर्सिटीऑफनार्थकैरोलिनाकेअस्सिटेंटप्रोफेसरऔरमुख्यशोधार्थीलिलीशानाहनकाकहनाहै,“किशोरोंमेंआत्महत्याकीकोशिशकोआमतौरपरमानसिकस्वास्थ्यसमस्यामानाजाताहै,लेकिनयहयुवाहोनेपरगंभीरस्वास्थ्यसमस्याओंकाभीसंकेतहै।”

यहशोधअमेरिकनसाइकोलॉजिकलएसोसिएशनद्वाराप्रकाशितकियागयाहै।साथहीयहअलग-अलगशैक्षणिक,सामाजिकऔरआर्थिकस्तरकेलोगोंकेबीचपायागयाहै। शानाहनबतातीहैं,“किशोरोंमेंआत्महत्याकीप्रवृत्तिकिशोरियोंकेमुकाबलेअधिकहोतीहै,जिन्हेंयहबादमेंजाकरगंभीरस्वास्थ्यसमस्याओंकासंकेतदेताहै।”

इसकेअलावापिछलेशोधोंमेंपायागयाथाकिआत्महत्याकीप्रवृत्तिवालेकिशोरोंमेंआगेचलकरसामाजिकअलगाव,अस्वास्थ्यकरआदतें,शिक्षाऔरनौकरीमेंकमउपलब्धियांहासिलहोतीहैं। शोधकर्ताओंकाकहनाहैकिइनसबकेअलावाउनकेशोधसेपताचलाहैकिआगेचलकरउन्हेंगंभीरस्वास्थ्यसमस्याओंकाभीखतराहोताहै।