अब तीसरी आंख करेगी हिम तेंदुओं की निगरानी

संवादसहयोगी,रुद्रप्रयाग:उच्चहिमालयीक्षेत्रकीशानकहेजानेवालेदुर्लभहिमतेंदुओं(स्नोलेपर्ड)कीसुरक्षाकोलेकरवनमहकमासंजीदाहोगयाहै।इसकड़ीमेंरुद्रप्रयागवनप्रभागकेउत्तरीजखोलीक्षेत्रमेंनिगरानीऔरसंरक्षणकेमकसदसेआठसोलरकैमराट्रैपलगाएगएहैं।इससेजहांक्षेत्रमेंहिमतेंदुओंकीसंख्याकाआकलनहोसकेगा,वहींइनकीसुरक्षाभीसशक्तहोगी।

शीतकालकावक्तउच्चहिमालयीक्षेत्रकेबेजुबानोंकेलिएबेहदसंवेदनशीलमानाजाताहै।वजहयेकिशीतकालमेंहिमतेंदुओंकेसाथहीवन्यजीवोंकीअन्यप्रजातियांनिचलेक्षेत्रोंमेंआजातीहैं।इसदरम्यानइनकेशिकारकीसंभावनाभीअधिकबढ़जातीहै।ऐसेमेंउनकीसुरक्षाऔरमनुष्यसेटकरावरोकनासबसेबड़ीचुनौतीहै।केदारनाथवन्यजीवप्रभागसेलगारुदप्रयागवनप्रभागकाउत्तरीजखोलीक्षेत्रभीइससेअछूतानहींहै।इसेदेखतेहुएअबमहकमावन्यजीवोंकीसुरक्षाकोलेकरसजगहुआहै।

रुद्रप्रयागकेप्रभागीयवनाधिकारीवैभवकुमारबतातेहैंकिउत्तरीजखोलीक्षेत्रमेंभीहिमतेंदुओंकीमौजूदगीहै।साथहीयहजैवविविधताकेलिएभीप्रसिद्धहै।इससबकोदेखतेहुएवहांपंवालीकांठासमेतआसपासकेअलग-अलगक्षेत्रोंमेंआठसोलरकैमराट्रैपलगाएगएहैं।इनकेजरियेमिलनेचित्रोंकेआधारपरइसक्षेत्रमेंहिमतेंदुओंकीवास्तविकसंख्याकाआकलनहोसकेगा,जिससेइनकेसंरक्षणकोआगेकीकार्ययोजनातैयारकरनेमेंमददमिलेगी।

बुग्यालोंकाभीकियाअध्ययन

डीएफओवैभवकुमारकीअगुआईमेंविभागके12सदस्यीयदलनेउत्तरीजखोलीरेंजकेउच्चशिखरीयक्षेत्रोंमेंरणधारसेधारकुडीहोतेहुएपंवालीकांठातक26किमीलंबेट्रेकऔरउसकेआसपासकेबुग्यालोंकाअध्ययनभीकिया।यहक्षेत्रदुर्लभवन्यजीवोंकेसाथहीवनस्पतियोंऔरजड़ी-बूटियोंकाविपुलभंडारभीहै।इससिलसिलेमेंअध्ययनदलनेविभिन्नजानकारियांभीजुटाई।