बेटी के हाथ पीला करने का अरमान रह गया अधूरा

देवरिया:बेटीकेहाथपीलाकरनेकेलिएवहरिश्तादेखरहेथे,बेटीकीशादीधूमधामसेकरनेकाउनकासपनाथा,लेकिनउनकासपनाहमेशाकेलिएअधूरारहगया।दुर्घटनानेउनकेसभीआरमानोंपरपानीभरतेहुएइसदुनियासेहीहमेशाकेलिएछीनलिया।

लाखोपारनिवासीवशिष्ठयादवअपनेपरिवारकेलोगोंकेसाथतरकुलहादेवीदर्शनकोगएथे।देररातऑटोसेलौटतेवक्तसलेमपुरकेनदावरपुलकोपारकरतेवक्तस्कार्पियोनेजोरदारटक्करमारदिया।हादसेमेंवशिष्ठयादवकीमौतहोगई।दरवाजेपरलोगोंकीभीड़उमड़पड़ी।सभीपरिजनोंकोसांत्वनादेनेमेंलगेरहे।वशिष्ठकीपत्नीकौशल्यादेवीकारोरोकरबुराहालहै।उनकेतीनलड़केविजययादव,सत्येंद्रयादव,उपेंद्रयादवकीशादीहोचुकीहै,जबकिसबसेछोटीबेटीप्रमिलायादवकीशादीनहींहुईहै।वशिष्ठबेटीकारिश्ताखोजरहेथे।उनकासपनाथाकिबेटीकीशादीकरवहभीबेफिक्रहोजाएंगेलेकिनकुदरतकोयहमंजूरनहींथा।उनकेइससपनोंपरकालकीनजरलगगई।