बनते गए मकान, रहन-सहन नहीं न हो सका आसान

सुलतानपुर:नवविकसितकालोनियांदुर्दशाग्रस्तहैं।सुविधाएंयहांपरशून्यहैं।करौंदियारेलवेक्रासिंगकेउसपारतेजीसेरिहायशीक्षेत्रबढ़ाहै।चुनहातकशहरमानाजाताहै।बावजूदइसकेयहांसड़ककेदोनोंकिनारोंपरआबादनवविकसितकालोनीमेंअसुविधाओंकीभरमारहै।

सड़ककेउत्तरीपटरीपरदशकोंपहलेनिषादोंकेखेतथे।सीमाविस्तारऔररेलवेक्रासिंगपरओवरब्रिजबननेसेइसक्षेत्रमेंअंधाधुंधनिर्माणहुआहै।सैकड़ोंकीसंख्यामेंलखनऊरेलवेलाइनकेसमानांतरबड़ीआबादीबसगई।अबभीयहांगभड़ियानालेकेकिनारेभूखंडकाक्रयविक्रयचलरहाहै।

बनेस्कूलबाजार,नहींबनीसड़कवनाली:

शहरकोकुड़वारकस्बेसेजोड़नेवालेमार्गकेकिनारेचारकिमीदूरमुरलीनगरतकदोनोंपटरियोंपरकमखालीस्थानबचेहैं।इसीरोडकेकिनारेपलहीपुरमेंबड़ेस्टेडियमऔरआइटीआइवआयुर्वेदिकअस्पतालकानिर्माणप्रस्तावितहै।इतनासबहोनेकेबावजूदनएरिहायशीक्षेत्रमेंनालीसड़कतकनहींहै।इंटरलाकिगसेबनीसड़केंटूटगईहैं।गोमतीकीतराईऔरगभ़ड़ियानालाकाकिनाराहोनेकेचलतेबारिशमेंपानीकाबहावतेजहोताहै।ऐसेमेंपुख्तासड़कवनालीनबननेसेएकदोसालमेंहीयहव्यवस्थाध्वस्तहोजातीहै।इनकेफिरसेनिर्माणपरकोईध्याननहींदेता।नवनिर्मितकालोनीविनियमितक्षेत्रमेंहै।चुनहामेंबसीशहरीआबादीफिलहालग्रामसभामेंआतीहै।ग्रामपंचायतकीओरसेभीनाली,खड़ंजाआदिकाइंतजामनकेबराबरहै।

बोलेकालोनीकेलोग

कारोबारीभगवतीप्रसादनेकहाकिआठसालपहलेयहांबसाथा।अबतकव्यवस्थाएंदुरुस्तहोनेकीराहदेखरहेहैं।गृहणीऊषापांडेयबोलींकिसड़केंखराबहोनेसेई-रिक्शामुहल्लेमेंनहींआते।वहीं,अर्पणश्रीवास्तवनेकहाकिनालियांटूटीहैं।जलनिकासीनहींहोती।खालीप्लाटमेंपानीजाताहै।

विभागकेक्षेत्राधिकारमेंआनेवविकसितहोनेवालेआवासीयक्षेत्रोंमेंनागरिकसुविधाओंकीवृद्धिकेलिएसंबंधितग्रामसभाकेजनप्रतिनिधियोंसेकहाजाताहै।उच्चाधिकारीभीइसकेलिएनिर्देशितकरतेहैं।

-डीडीपांडेय,अवरअभियंताविनियमितक्षेत्र