बुंदेलखंड पेज के लिए) बस सरकारेंनहीं निहार रहीं पचनद का सौंदर्य

संवादसूत्र,रामपुरा:प्रदेशकेबुंदेलखंडकेउत्तर-पश्चिमक्षेत्रमेंपांचनदियोंकेअनूठेसंगमस्थलकाप्राकृतिकसौंदर्यहरकिसीकोबरबसहीअपनीओरखींचनेकामाद्दारखताहै।फिरभीसरकारोंकीनजरोंसेयहअभीभीअछूताहै।पर्यटकसुविधाओंकेअभावमेंइसकीमान्यतातीर्थस्थलकेरूपमेंभलेहीबहुतअधिकहोपरंतुइसकालाभक्षेत्रीयलोगोंकोनहींमिलपारहाहै।

यमुनानदीमेंचंबल,¨सध,क्वांरीऔरपहुजनदियोंकीसंगमस्थलीकाविकासनहोनेकाएककारणयहांकीदस्युसमस्याभीरहीहै।प्राकृतिकसुंदरताएवंअनेकप्रकारकीवनस्पतियोंसेआच्छादितपचनदक्षेत्रदस्युओंकीशरणस्थलीभीरहाहै।हालांकिअबदस्युगिरोहोंकाखात्माहोचुकाहै।फिरभीपर्यटनस्थलकेरूपमेंइसस्थलकोविकसितनहींकियाजारहाहै।अगरपर्यटनस्थलकादर्जाइसेमिलजाएतोनकेवलक्षेत्रमेंतमामविकासकार्यहोसकतेहैंबल्कियहांकेलोगोंकोअच्छारोजगारमिलसकताहै।

कईपुराणोंमेंतपस्थलीकेरूपमेंमिलीपहचान

पचनदक्षेत्रकीधार्मिकमान्यताकाजिक्रकईधार्मिकपुस्तकोंमेंमिलताहै।श्रीमद्देवीभागवतकेपंचमस्कंधकेदूसरेअध्यायमेंश्लोकक्रमांक18,19,20,21,22केअनुसारमहिषासुरकेपितारंभतथाचाचाकरंभनेपुत्रप्राप्तिकेलिएपश्चिमक्षेत्रमेंआकरतपस्याकीथी।करंभनेपचनदकेपवित्रजलमेंबैठकरतपकियातोरंभनेदूधवालेवृक्षकेनीचेपंचाग्निकासेवनकरतपस्याकी।इंद्रनेमगरमच्छकारूपधारणकरकरंभकोतपस्याकरतेहुएमारडालाथा।एकअन्यपुराणमेंपचनदकोविश्वकासबसेबड़ातीर्थमानागयाहै।शिवपुराणकेअनुसारभगवानशंकरके108विग्रहभारतमेंहैंजिनमेंपचनदपरगिरीश्वरनामसेभगवानशिवकाविग्रहपूजनीयहै।यहस्थानवेदवर्णितऋषिअथर्वणजिन्होंनेअथर्ववेदकीरचनाकी,उनकीभीतपोस्थलीरहीहै।

वसंतपंचमीपरहुईथीतुलसीदासऔरबाबासाहबकीभेंट

पचनदस्थलपरआजभीअनेकसंतोंकासंगमहोतारहताहै।संवत1133मेंग्रामलूटखावदाभरतपुर(राजस्थान)सेजनार्दनवननामकएकसंतनेआकरपचनदपरतपस्याप्रारंभकी।उन्हींकीशिष्यपरंपराकीपीढ़ीके19वेंसंतमुकुंदवनजीमहाराजनेइतनीख्यातिपायीकिउनकोसम्मानकेकारणबाबासाहबकीउपाधिदीगई।उनकीप्रसिद्धिसुनकरगोस्वामीतुलसीदासस्वयंउनसेमिलनेकेलिएसंवत1660मेंवसंतपंचमीकेदिनपचनदपरआएथे।दोप्रसिद्धसंतोंकामिलनइसक्षेत्रमेंअनेक¨कवदंतियोंकोप्रचलितकरगया।यहक्षेत्रभौगोलिक²ष्टिसेबहुतहीमहत्वपूर्णहै।यहांसेइटावा,¨भड,औरैया,उरईकीलगभगसमानदूरीहै।प्रतिवर्षकार्तिकमासकीपूर्णिमाकोयहांपरविशालमेलेकाआयोजनहोताहै।

फिरउठनेलगीपर्यटनक्षेत्रघोषितकरनेकीमांग

प्राकृतिकसुंदरताऔरधार्मिकमहत्ववालेपचनदकोपर्यटनक्षेत्रघोषितकरनेकीमांगफिरउठनेलगीहै।इसमहत्वपूर्णस्थलकीअनदेखीक्षेत्रवासियोंकोरासनहींआरहीहै।समाजसेवीविजयद्विवेदी,हरगो¨वद¨सहसेंगर,अनूपकुमारझा,प्रधानजगम्मनपुरराहुलमिश्रा,प्रमोद¨सहसेंगर,रामअवतारतिवारीमुनीम,जगदीश¨सहसेंगर,महेंद्र¨सहसेंगरकाकहनाहैकिअगरपर्यटनस्थलघोषितहोजाएतोइसक्षेत्रकाकायाकल्पहोसकताहै।व्यापारमंडलकेअध्यक्षविजयद्विवेदीनेबतायाकिइससंबंधमेंमुख्यमंत्री,पर्यटनमंत्रीएवंकेंद्रीयजलसंसाधनमंत्रीउमाभारतीसेमुलाकातकीजाएगी।