Central Vista Project: सुप्रीम कोर्ट की सख्त टिप्पणी-तो क्या लोगों से पूछें, पीएम-उपराष्ट्रपति कहां रहेंगे?

CentralVistaProject:सुप्रीमकोर्टनेसेंट्रलविस्टाप्रोजेक्टमेंचिल्ड्रेनपार्कवहरितक्षेत्रकालैंडयूजबदलनेकेखिलाफदाखिलकीगईयाचिकाकोखारिजकरदियाहै.इसकेसाथहीसुप्रीमकोर्टनेसख्तटिप्पणीकरतेहुएकहाहैकिवहांकोईप्राइवेटप्रॉपर्टीनहींबनाईजारहीहै,​बल्किउपराष्ट्रपतिकाआवासबनायाजारहाहै.लिहाजाचारोंओरहरियालीहोनातयहै.कोर्टनेकहाकिअबजनतासेपूछेंकिकहांबनायाजाएगा-उपराष्ट्रपतिकाआवास.

दायरयाचिकापरकोर्टनेकहाकिइसप्रोजेक्टपरपहलेहीप्राधिकरणद्वारामंजूरीदेदीगईहै.आपउसप्रक्रियामेंदुर्भावनाकाआरोपनहींलगारहेहैं.गौरतलबहैकियाचिकाकर्ताराजीवसूरीनेअपनीयाचिकामेंकहाथाकिसेंट्रलविस्टाकेप्लाटनंबरएककाइस्तेमालरिक्रिएशनलसुविधाओंकेलिएहोनाथा,लेकिनइसकाइस्तेमालआवासकेलिएकियाजारहाहै.

मामलेकीसुनवाईकरतेहुएजस्टिसएएमखानविलकरनेकहाकियहनीतिगतमामलाहै.हरचीजकीआलोचनाकीजासकतीहै,लेकिनरचनात्मकआलोचनाहोनीचाहिए.उपराष्ट्रपतिकाआवासकहींऔरकैसेहोसकताहै?उसजमीनकाइस्तेमालहमेशासेसरकारीकामकेलिएकियाजातारहाहै.

जस्टिसखानविलकरनेआगेकहाकिआपकैसेकहसकतेहैंकिएकबारमनोरंजनक्षेत्रकेलिएसूचीबद्धहोनेकेबादइसेकभीनहींबदलाजासकताहै?भलेहीकिसीसमयइसेमनोरंजनक्षेत्रकेरूपमेंनामितकियागयाहो.क्याअधिकारीक्षेत्रकेसमग्रविकासकेलिएइसेसंशोधितनहींकरसकते?क्याअबहमआमआदमीसेपूछनाशुरूकरेंगेकिउपराष्ट्रपतिकाआवासकहांबने?

सॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतानेकहा,“हमसमग्रविकासकेहिस्सेकेरूपमेंहरितक्षेत्रबढ़ारहेहैं.क्यायहअंकगणितकीबातहैकिअगरवेयहांकुछवर्गमीटरलेरहेहैंतोउन्हेंइसकीभरपाईकहींऔरकरनीचाहिए.केंद्रकेहलफनामेमेंपहलेहीकहागयाहैकिवेपहलेहीमुआवजेकेतौरपरज्यादाहरितक्षेत्रदेरहेहैं.अबआपकिससिद्धांतपरचुनौतीदेरहेहैं?”याचिकाकर्ताकेवकीलनेकहाकिमनोरंजनक्षेत्रमेंजनहितभूमिउपयोगमेंपरिवर्तनकियाजारहाहै.

इससेपहलेकेंद्रनेसुप्रीमकोर्टसेसेंट्रलविस्टाकेखिलाफदायरनईयाचिकाकोखारिजकरनेकीमांगकीथी.केंद्रनेकहाकियाचिकाकोजुर्मानेकेसाथखारिजकियाजाए.केंद्रनेकहाहैकिउक्तप्लॉटनंबर1काक्षेत्रवर्तमानमेंसरकारीकार्यालयोंकेरूपमेंउपयोगकियाजारहाहैऔर90सालोंसेयेरक्षाभूमिहै.येकोईमनोरंजकगतिविधिक्षेत्रनहींहै.