चहरे बदले पर नहीं बदली स्वास्थ्य व्यवस्था की तस्वीर

विक्रमचौहान,लोहरदगा:नातोडॉक्टरहैंनाहीसमयपरएंबुलेंसमिलपाताहै।अस्पतालमेंभीसुविधाओंकाघोरअभावहै।लोहरदगामेंचिकित्सकीयव्यवस्थाकीकुछऐसीहीतस्वीरहै।यहांपरचुनावदरचुनावनेताओंकेचेहरेबदलतेगएपरस्वास्थ्यव्यवस्थाकीतस्वीरनहींबदली।स्वास्थ्यव्यवस्थाकीबदतरस्थितिकेकारणलोगोंकाभरोसाटूटजाताहै।गरीबऔरसामान्यवर्गकेलोगोंकोइलाजकेलिएरेफरलहालातपरनिर्भररहनापड़ताहै।

चिकित्सकोंकीकमी

जिलेमेंजहां82चिकित्सकोंकीजरूरतहैवहांपरमहज38चिकित्सकहीकार्यरतहैं।यहां95अस्पतालोंकेलिएचिकित्सकोंकीसंख्याऊंटकेमुंहमेंजीरेकेसमानहै।लोहरदगामेंएकसदरअस्पताल,चारसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्र,10प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रऔर80उपस्वास्थ्यकेंद्रसंचालितहैं।इनकेलिएमहज38डॉक्टरहीहैं।सदरअस्पतालस्वास्थ्यव्यवस्थाकीसबसेबड़ीइकाईहै।यहांपरभीचिकित्सकोंकाघोरअभावहै।कईविशेषज्ञचिकित्सकहैहीनहीं।स्थितिइतनीबदतरहैकिसदरअस्पतालउपाधीक्षकतककोकईमौकोंपरखुदहीमरीजोंकेइलाजकेलिएउतरनापड़ताहै।जबकिइनकानैतिकदायित्वप्रशासनिककार्योकानिपटाराहै।लोगहरचुनावमेंउम्मीदकरतेहैंकिकोईतोस्वास्थ्यव्यवस्थाकीबदहालीकोचुनावीमुद्दाबनाए।कागजोंमेंतोयहउम्मीदपूरीभीहोतीहै,परहकीकतआते-आतेयहहवा-हवाईहोजातीहै।

रेफरलअस्पतालएकमात्रविकल्प

सुदूरवर्तीजंगलीऔरपहाड़ीइलाकोंमेंस्वास्थ्यव्यवस्थातोहैहीनहीं।उम्मीदलगाकरजबलोगशहरपहुंचतेहैंतोयहांसेभीउन्हेंरेफरकरदियाजाताहै।लोहरदगासदरअस्पतालतोजैसेरेफरलअस्पतालबनकररहगयाहै।सर्दी-बुखारसेज्यादाकोईपरेशानीहुईतोमरीजकोसीधेरेफरकरदेनाहै।ऐसेहालातमेंमरीजपूरीतरहसेनिजीअस्पतालोंऔरझोलाछापडॉक्टरोंकेभरोसेनिर्भरहोकररहगएहैं।अंधविश्वासकोभीइन्हींहालातोंकीवजहसेहवामिलरहीहै।

स्वास्थ्यव्यवस्थाबनेगामुद्दा

लोहरदगाविधानसभाक्षेत्रमेंफिरएकबारचुनावीसरगर्मीतेजहोचुकीहै।लोगोंकोउम्मीदहैकिइसबारस्वास्थ्यव्यवस्थाकोमुद्दाजरूरबनायाजाएगा।पिछलेचुनावमेंनेताओंनेवादाकियाथाकिअबउन्हेंइसपरेशानीसेछुटकारामिलेगा।ऐसाहुआतोनहीं।बड़ेबड़ेराजनीतिकदलोंकेअलावाक्षेत्रीयदलकेनेताभीसमस्याओंकेसमाधानकोलेकरठोसरूपसेकोईपहलकरनहींपाते।बड़ीउम्मीदलगाकरयहांपरनेताओंकोविधानसभाभेजतीरहीहै।इसबारभीकोईनाकोईनेताविधानसभापहुंचेगाजरूर।जनताकीसमस्याओंकाहलकितनाहोगायातोआनेवालावक्तहीबताएगा।