चिकित्सा विज्ञान संस्थान, बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में टेंडर के झमेले में फंसी थायराइड की जांच

जागरणसंवाददाता,वाराणसी। पूर्वांचलकेएम्सकहेजानेवालेचिकित्साविज्ञानसंस्थान,बीएचयूकेसरसुंदरलालअस्पतालमेंथायराइडकीजांचहीनहींहोरहाहै।इसकेकारणमजूबरीमेंमरीजोंकोबाहरजाकरजांचकरानीपड़तीहै।इससेएकतोउन्हेंअधिकभागदौड़करनीपड़तीहैतोदूसरीओरपैसाअधिकखर्चहोताहैऔरगुणवत्ताभीनाकाफीहोतीहै।

सरसुंदरलालअस्पतालवट्रामासेंटरमेंवाराणसीहीनहींबल्किपूरेपूर्वांचलकेसाथहीबिहार,झारखंड,मध्यप्रदेश,छत्तीसगढ़,नेपालआदिजगहोंकेमरीजआतेहैं।सामान्यदिनोंकीओपीडीमेंकरीबसातहजारमरीजआतेहैं।हालांकिकोरोनाकालमेंबहुतकमहीमरीजआरहेहैं।बतायाजारहाहैकिबीएचयूकेसरसुंदरलालअस्पतालमेंथायराइडकीजांचकेलिएकिसीकंपनीनेअपनीमशीदीथी।इसमेंशर्तथीकिबीएचयूकोकंपनीसेहीजांचकीकीकिटखरीदनाहोगा।इसकेलिएकंपनीवबीएचयूकेबीचअनुबंधहुआथा।

अबअनुबंधसमाप्तहोगयाहै।इसकेकारणजांचबंदहोगईहै।वैसेसामान्यदिनोंमेंयहांपरएकदिनमें100सेअधिकमरीजोंकीथायराइडकीजांचहोतीथी,लेकिनअबमरीजोंकोबाहरजानापड़रहाहै।चिकित्साअधीक्षकप्रो.केकेगुप्ताकेअनुसारथायराइडकीजांचकेलिएटेंडरकीप्रक्रियाचलरहीहै।कुछतकनीकीकारणाेंसेयहमामलारूकाहुआहै।हालांकिजल्दहीइससमस्यासेछुटकारामिलजाएगाऔरमरीजोंकोयहींपरथायराइडजांचकीसुविधामिलनेलगेगी।