चिराग पासवान से चाचा और भाई नाराज चल रहे थे, पार्टी तोड़ने में JDU के 3 नेताओं ने निभाई बड़ी भूमिका

दिवंगतरामविलासपासवानकीलोकजनशक्तिपार्टी(LJP)मेंबड़ीटूटहोगईहै।पार्टीपांचसांसदों-पशुपतिकुमारपारस,चौधरीमहबूबअलीकैसर,वीणादेवी,चंदनसिंहऔरप्रिंसराजनेमिलकरराष्ट्रीयअध्यक्षचिरागपासवानकोसभीपदोंसेहटादियाहै।साथहीचिरागकेचाचापशुपतिकुमारपारसकोअपनानेताचुनलियाहै।उन्हेंराष्ट्रीयअध्यक्षकेसाथसंसदीयदलकेनेताकाजिम्माभीसौंपागयाहै।LJPमेंचिरागसमेतकुलछहहीसांसदथे।

LJPमेंटूटकीबड़ीवजहचिरागसेउनकेअपनोंकीनाराजगीरही।इसकाफायदादूसरोंनेउठायाऔरJDUके3कद्दावरनेताओंनेLJPकोतोड़नेमेंअहमभूमिकानिभाई।इनमेंसांसदराजीवरंजनउर्फललनसिंहऔरविधानसभाउपाध्यक्षमहेश्वरहजारीशामिलहैं।तीसरेकानामसामनेनहींआयाहै।बतायाजारहाहैकिफिलहालयेतीनोंनेतादिल्लीमेंमौजूदहैंऔरLJPकेसभीसांसदोंपरनजररखेहुएहैं।

चिरागकोभारीपड़ीअपनोंकीनाराजगी

चिरागकोसबसेज्यादाभरोसाअपनेचचेरेभाईऔरसमस्तीपुरसेसांसदप्रिंसराजपरथा।लेकिनप्रिंसराजउसवक्तसेनाराजचलरहेथेजबसेउनकेप्रदेशअध्यक्षपदमेंबंटवाराकरदियागयाथाऔरकार्यकारीप्रदेशअध्यक्षराजूतिवारीकोबनायागयाथा।

चिरागकेचाचाऔरहाजीपुरसेसांसदपशुपतिपारसतबसेनाराजचलरहेहैं,जबसेचिरागनेJDUसेबगावतकीथी।पशुपतिपारसपिछलीबिहारसरकारमेंपशुपालनमंत्रीथे।वेमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारकेकरीबीथे,लेकिनचिरागनेनीतीशकुमारसेबगावतकरउनकेऔरपारसकेरिश्तेखराबकरदिएथे।विधानसभाचुनावकेसमयभीपारसनेचिरागकोबार-बारसमझायाकियहकदमजोखिमभराहोगालेकिनचिरागनहींमानें।ऐसेमेंपारसमनमेंखीझलेकरसबकुछदेखतेरहेऔरजबवक्तआयातोचिरागकोछोड़दिया।

चिरागकेएकतरफाफैसलेलेनेसेसभीनाराजथे

चिरागपासवानकाएकतरफाफैसलालेनाउनकीपार्टीकेलिएनासूरबनगयाथा।चिरागपार्टीनेताओंसेसलाहलिएबिनाएकतरफाफैसलेलेतेरहेथे।चिरागकेसबसेकरीबीरहेसौरभपांडेसेपूरीपार्टीकेनेतानाराजचलरहेथे।क्योंकिचिरागवहीफैसलेलेरहेथे,जिनमेंसौरभकीसहमतिहोतीथी।इसवजहसेLJPकेज्यादातरबड़ेऔरकद्दावरनेतानाराजचलरहेथे।

सूरजभानकेछोटेभाईचंदननेकीबगावत

दिवंगतरामविलासपासवानकेसबसेकरीबीरहेसूरजभानसिंहनेअपनीकोशिशोंसेविधानसभाचुनावमेंपार्टीकोटूटनेसेबचायाथा।लेकिन,चिरागकेलगातारएकतरफाफैसलेलेनेसेसूरजभानभीनाराजहोगएथे।ऐसेमेंसूरजभानसिंहकेछोटेभाईचंदनसिंहजोकिनवादासेसांसदहैं,उन्होंनेभीबगावतकरदी।

दूसरीतरफलोजपासांसदमहबूबअलीकैसरभीपार्टीकीकिसीभीबैठकमेंशामिलनहींहोतेथे।वेमहजलोजपाकेसांसदहीरहगएथे।पार्टीकेकिसीभीकार्यक्रममेंउनकाशामिलनहींहोनाउनकीबगावतकाहीहिस्साथा।वहींवैशालीसेसांसदवीणासिंहरामविलासपासवानकीकरीबीरहीथींलेकिनचिरागनेउन्हेंभीकभीतरजीहनहींदी।ऐसेमेंवीणाकाभीअलगहोनालाजिमीथा।

मिशनLJPमेंJDUकेतीनकद्दावरनेतालगेथे

LJPकोतोड़नेमेंJDUकेतीनकद्दावरनेतागुपचुपतरीकेसेलगेहुएथे।इनमेंसांसदराजीवरंजनउर्फललनसिंह,रामविलासपासवानकेरिश्तेदारऔरविधानसभाकेउपाध्यक्षमहेश्वरहजारीऔरएकऐसेनेतानेअहमभूमिकानिभाईजोLJPकीकमजोरकड़ीकोजानतेथे।उनकानामतोसामनेनहींआयाहै,लेकिनवेकिसीवक्तरामविलासपासवानकेसबसेकरीबियोंमेंरहेथे।अभीवेमुख्यमंत्रीनीतीशकुमारकेसबसेकरीबीनेताहै।

इसपूरेमिशनकोलीडकररहेथेJDUसांसदललनसिंह।ललननेपहलेपशुपतिपारसकोअपनेपक्षमेंकियाऔरफिरसूरजभानसिंहकेसाथमिलकरउनकोभीपक्षमेंकरलिया।इसकेबादमहेश्वरहजारीनेमहबूबअलीकैसरकोतोड़ाऔरफिरप्रिंसराजऔरवीणासिंहकोभीचिरागकासाथछोड़नेपरमजबूरकरदिया।