चलो गांव की ओर : नौगांव : बुलंदियों पर अग्रसर गांव के ग्रामीण हर क्षेत्र में कर रहे कमाल

संवादसूत्र,साल्हावास:जिलामुख्यालयसेकरीब30किलोमीटरकीदूरीपरबसागांवनौगांवआजबुलंदियोंकीमिसालकायमकररहाहै।हरक्षेत्रमेंगांवकेलोगसराहनीयकार्यकरतेहुएदूसरोंकेलिएप्रेरणाबनकरउभररहेहैं।करीबसाढ़ेतीनहजारकीआबादीवालेइसगांवमेंदोहजारमतदाताहै।बतातेहैंकिगांवकीस्थापनाकरीब400सालपहलेहुईथी।दादाधामदास,दादाभैया,बाबासैयदकामंदिरयहांपरलोगोंकेलिएआस्थाकाप्रतीकहै।दादाधामदासऔरदादाभैयाकोग्रामदेवताकेरूपमेंपूजाजाताहै।बॉक्स:रामनारायणसुपुत्रमुखरामस्वतंत्रतासेनानीरहे।मौजूदासमयमेंगांवकेयुवाबड़ीसंख्यामेंबार्डरपरदेशकीसेवाकररहेहै।1962,1971,कारगिलसहितअन्यसमयपरगांवकेयुवाओंनेदेशकेलिएशौर्यकापरिचयदियाहै।गांवकाकोईभीफौजीशहीदनहींहुआहै।बल्कि,बार्डरपरवीरताकीमिसालजरुरकायमकीहै।जिसकेयहांकिस्सेसुनाएंजातेहैं।पूर्वसरपंचराजसिंहपंघाल,फूलसिंहनंबरदार,सूबेसिंहनंबरदार,पूर्वसरपंचइशवंती,निवर्तमानसरपंचशर्मिला,धर्मपाल,छत्रसिंह,रतनसिंहसाहबआदिनेबतायाकिगांवमेंअभीभीमुख्यतौरपरदोमुहल्लेहैं,जिसकोलडानियाऔरसाल्हावासियाकेरूपमेंजानाजाताहै।सचिनवशिष्ठसुपुत्ररमेशवशिष्ठएनडीएमेंचयनितहैं,अमितपंघालजीडीसेकमीशनलेकरआर्मीलेफ्टिनेंटमेंकार्यरतहैं।गांवकेयुवासाहिलहालहीमेंपुणेसेएमबीबीएसकररहेहैं,श्रीकृष्णसुपुत्रओमप्रकाशप्राचार्यकेपदपररहकरगांवकोगौरवान्वितकररहेहैं।होलीसेदोदिनपहलेगांवमेंबाबाश्यामकाबड़ामेलालगताहै।जिसमेंदूर-दराजकेलोगपहुंचतेहुएआशीर्वादप्राप्तकरतेहैं।ग्रामीणखेती-बाड़ीऔरपशुपालनपरनिर्भरहै।गांवतहसीलमातनहेलकेअंतर्गतआताहै।