चुनाव चिन्ह मामले में भारी पड़े नीतीश, जानें-शरद यादव के सामने क्या है रास्ता

नईदिल्ली[स्पेशलडेस्क]। जदयूपरकब्जेकीलड़ाईमेंबागीशरदयादवगुटकोचुनावआयोगसेकराराझटकालगाहै।चुनावआयोगनेअपनेफैसलेमेंकहाकिशरदयादवकैंपपार्टीपरपुख्तादावेदारीकेमामलेमेंअपनेपक्षकोसहीढंगसेनहींरखसका।येबातअबसाफहैकिपार्टीपरवर्चस्वकीलड़ाईमेंनीतीशखेमेनेबाजीमारलीहै।चुनावआयोगकेफैसलेपरशरदयादवनेकहाकियहएकसंघर्षहै,जिसमेंअंतिमविजयउनकीहोगी।शरदयादवकेतेवरसेसाफहैकिवोअपनीलड़ाईकोऔरआगेबढ़ाएंगे।जदयूकेअंदरजोतूफानहैउसेसमझनेकेलिएशरदयादवऔरनीतीशकुमारकेसंबंधोंकेसाथ-साथसामाजिकन्यायकेआंदोलनकोबारीकीसेदेखनाहोगा।

समाजवादीकुनबेकीकहानी

आजसेकरीब28सालपहले1989मेंभ्रष्टाचारकेखिलाफराजीवगांधीकीसरकारबैकफुटपरथी।कांग्रेसकेविरोधमेंसमाजवादीनेताओंनेएकनएमोर्चेकागठनकिया,जिसेजनतादलकेनामसेजानागया।येबातअलगहैकिजनतादलनेजिसचेहरेकाचुनावकियावोकांग्रेसकेबागीनेतावीपीसिंहथे।1989केआमचुनावमेंकांग्रेसकेखिलाफइतनीतेजलहरथीकिराजीवगांधीसत्तासेबाहरहोगए।लोगोंनेवीपीसिंहमेंभरोसाजतायालेकिनवीपीसिंहकीसरकारबहुमतकेजादुईआंकड़ोंसेकाफीदूरथी।गैरकांग्रेसीसरकारकेगठनकेलिएवामदलऔरभाजपाएकसाथआए,औरजिनकेसमर्थनसेवीपीसिंहकीसरकारबनीऔरदेशकीराजनीतिमेंएकनएप्रयोगकादौरशुरूहुआ।

कांग्रेसकेखिलाफवामदलोंऔरभाजपा(दोनोंदलोंकीविचारधाराएक-दूसरेसेबिल्कुलजुदा)नेबाहरसेवीपीसिंहसरकारकोसमर्थनदियाऔरदेशमेंगैरकांग्रेसीसरकारकागठनहुआ।लेकिनयेसरकारअंतर्विरोधोंकेचलतेअपनेकार्यकालकोपूरानहींकरसकी।दरअसलइसकेपीछेएकबड़ीवजहयेथीकिमंडलकमीशनकीरिपोर्टकोलागूकिएजानेकेविरोधमेंभाजपानेसमर्थनवापसलेलियाऔरवीपीसिंहकीसरकारअल्पमतमेंआगई।इसतरहसेबदलेहुएघटनाक्रममेंचंद्रशेखरकीसरकारसत्तापरकाबिजहुईयेबातअलगथीकिजिसकांग्रेसकासमाजवादीधड़ाविरोधकररहाथा,उनकेसमर्थनसेचंद्रशेखरनेसरकारबनायी।लेकिनचंद्रशेखरकीसरकारभीनहींचलसकी।

चंद्रशेखरसरकारकेपतनकेबादसामाजिकन्यायकेपुरोधाबनचुकेनेताओंनेअपनीअलग-अलगराहचुनी,जिसमेंमुलायमसिंहयादव,लालूप्रसादयादव,शरदयादवऔरनीतीशकुमारप्रमुखथे।बिहारमेंलालूप्रसादकेविरोधमेंनीतीशकुमारनेसमतापार्टीकागठनकिया।लेकिनकुछवर्षोंकेबादसमतापार्टीकादोबाराजन्मजदयूकेरूपमेंहुआ,जिसकेसंस्थापकसदस्योंमेंशरदयादवशामिलथे।

Jagran.Comसेखासबातचीतमेंजदयूनेताअजयआलोकनेकहाकिपार्टीनेअपनीविचारधाराकेसाथकभीसमझौतानहींकिया।शरदयादवकेआरोपोंमेंदमनहींहै।जदयूपूरीतरहलोकतांत्रिकपार्टीहै,जहांअलग-अलगविचारोंकासम्मानहोताहै।किसीभीफैसलेकेलिएपार्टीमेंसमितियांबनीहुईहैं,लिहाजाअगरकोईयेकहेकिकोईएकशख्सफैसलालेताहैतोवोपूरीतरहगलतहै।

'सुविधाऔरजरूरतकीराजनीति'

सुविधाऔरजरूरतकेमुताबिकजदयूकेनेताअपनीराजनीतिकोआगेबढ़ातेरहे।जदयूकेनेताओंकोभाजपाकभीअछूतनजरआतीथी,तोकभीभाजपामेंदेशकाउद्धारनजरआताथा।येबातअलगथीकिजदयूकेबहुतसेनेतानीतीशकुमारकेफैसलोंकादबीजुबानविरोधकरतेथे।लेकिनविरोधकेउनसुरोंकाकोईखासमतलबनहींथा।

बिहारकेसीएमनीतीशकुमारऔरशरदयादवकेबीचमतभेदकादौरराष्ट्रपतिचुनावोंकेसाथहीशुरूहोगया।एनडीएद्वारारामनाथकोविंदकोप्रत्याशीघोषितकिएजानेकेबाद,कांग्रेसकीअगुवाईमेंकरीब18दलोंकेगठबंधननेसाझाउम्मीदवारउतारनेकाऐलानकिया।लेकिनबिहारकेसीएमऔरजदयूअध्यक्षनीतीशकुमारनेरामनाथकोविंदकोसमर्थनदेनेकाऐलानकिया,जिसकेबादपार्टीकेअंदरखींचतानशुरूहोगयी।इसकेसाथ-साथभ्रष्टाचारकेमुद्देपरनीतीशकुमारऔरलालूकेरिश्तोंमेंतल्खीआरहीथी।

बिहारकेडिप्टीसीएमरहेतेजस्वीयादवपरनीतीशकुमारकहतेरहेकिअगरवोपाकसाफहैंतोउन्हेंअपनेपक्षकोरखनेमेंकिसतरहकीदिक्कतआरहीहै?हालांकिजदयूऔरराजदकेबीचरिश्तेइतनेखट्टेहोगएकिनीतीशकुमारनेकहाकिअबउनकेलिएइसतरहसेसरकारचलानासंभवनहींहैऔरमहागठबंधन,इतिहासकाएकहिस्साबनगया।

नीतीशकुमारएकबारफिरअपनेपुरानेसहयोगीभाजपाकेसंगहोचले,जिससेवो2014केआमचुनावसेपहलेनरेंद्रमोदीकोप्रधानमंत्रीपदकाउम्मीदवारबनाएजानेकेनामपरअपनारिश्तातोड़चुकेथे।इनबदलीपरिस्थितियोंमेंशरदयादवखुलकरविरोधमेंआगएऔरवोकहनेलगेकिसुविधाजनकराजनीतिसेबेहतरहैकिसिद्धांतकीराजनीतिपरआगेबढ़ाजाए।शरदयादवनेसाफकहाकिवोअगस्तकेमहीनेमेंलालूयादवकीरैलीमेंशामिलहोंगे।लेकिनजदयूनेसाफकरदियाथाकिअगरवोराजदकीरैलीमेंहिस्सालेतेहैंतोउसेपार्टीविरोधीकार्योंकेरूपमेंदेखाजाएगा।शरदकेइनतेवरोंसेसाफहोगयाकिअबवोनीतीशकुमारकेखिलाफआरपारकीलड़ाईलड़ेंगे।लेकिनचुनावआयोगकेफैसलेकेबादनीतीशकुमारकेखिलाफवोपहलीलड़ाईहारचुकेहैं।

चुनावआयोगसेशरदकैंपकोझटका

चुनावआयोगकीतरफसेपत्रभेजकरयहकहागयाकिशरदयादवकैंपकीतरफसेदावेकोलेकरसांसदयाविधायकोंकेसमर्थनकाकिसीतरहकाकोईसबूतयाएफिडेविटपेशनहींकियागया।इसकेअलावा,शरदयादवकेबागीगुटकीतरफसेजोआवेदनजावेदरज़ाकीतरफसेदियागयाथाउसपररज़ाकाहस्ताक्षरनहींथा।चुनावआयोगनेअपनेआदेशमेंकहा,“यहीवजहहैकिचुनावआयोगनेसिंबलऑर्डरकेपैरा15केतहतउसआवेदनपरकिसीतरहकाकोईसंज्ञाननहींलिया।”

जबशरदयादवनेकहा-यहएकसंघर्षऔरजंगहै

चुनावआयोगकीओरसेपार्टीकाप्रतीकचिन्हनमिलनेपरजदयूकेवरिष्ठनेताशरदयादवनेकहाकियहएकसंघर्षऔरजंगहैजिसेमैंजीतूंगा।चुनावआयोगनेमंगलवारकोसबूतोंकेअभावमेंशरदयादवकेउसदावेकोखारिजकरदियाहैजिसमेंजदयूकापार्टीसिंबलउन्हेंदेनेकेलिएआवेदनदियागयाथा।

शरदयादवद्वारादायरकीगयीयाचिकाकेविरोधमेंनीतीशखेमेनेभीचुनावआयोगमेंअर्जीदायरकीथी।जदयूनेयहभीकहाहैकिशरदयादवनेअपनीमर्जीसेपार्टीकासाथछोड़ाहैवपार्टीविरोधीगतिविधियोंमेंसंलिप्तहैं।इसकेविरोधमेंयाचिकादायरकरनेवालेप्रतिनिधिमंडलमेंआरसीपीसिंह,संजयझा,ललनसिंहवकेसीत्यागीहैं।

शरदयादवनेनीतीशकोबतायाथाधोखेबाज

गौरतलबहैकिजेडीयूकेराष्ट्रीयअध्यक्षपदसेहटनेकेबादराजनीतिकेहाशिएपररहेशरदयादवउसवक्तअचानकसुर्खियोंमेंआगएजबउन्होंनेनीतीशकुमारकेबिहारमेंमहागठबंधनकासाथछोड़नेऔरभाजपाकेहाथमिलानेकापुरजोरविरोधकिया।शरदयादवनेकहाकिनीतीशकुमारनेजोकियाहैवहबिहारकीजनताकेसाथधोखाहै,क्योंकिचुनावमहागठबंधनकेनामपरलड़ागयाथा।

यहभीपढ़ें:स्वच्छभारतअभियानकोमिलावैचारिकआधार,चुनौतियोंकासामनाकरनेकीजरूरत