दिल्ली हिंसा की जांच के लिये दायर जनहित याचिका हाईकोर्ट ने की खारिज

गणतंत्रदिवसपरदिल्लीमेंहुईहिंसाकोलेकरजांचकीमांगकरनेवालीजनहितयाचिकाकोदिल्लीहाईकोर्टमेंआजखारिजकरदियाहै.कोर्टनेकहाकि26जनवरीकोजोकुछभीहुआहैउसकीजांचपहलेहीहोरहीहैलिहाजाइसयाचिकापरअबसुनवाईकाकोईऔचित्यनहींहै.

दिल्लीहाईकोर्टनेयाचिकाकर्ताकीमंशापरभीसवालखड़ेकरतेहुएकहाकि26तारीखकोदिल्लीमेंहिंसाकीघटनाहुईऔरउसके3दिनकेभीतर29तारीखकोयाचिकाकर्तानेजनहितयाचिकाहाईकोर्टमेंदाखिलकरदी.कोर्टकाकहनेकातात्पर्यथाकिक्याइसतरहकेमामलोंमें3दिनकेभीतरजांचपूरीहोसकतीहै.कोर्टनेयाचिकाकर्तासेपूछाकिक्याउसेपताहैकिकिसीभीजांचएजेंसीकोअपनीजांचपूरीकरनेकेलिएकितनेदिनकावक्तदियाजाताहै.

मामलेकीसुनवाईकेदौरानसॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतानेकोर्टकोबताया26जनवरीकोहुईहिंसाकेमामलेमेंअबतक43एफआईआरदर्जकीजाचुकीहैं,जिसमेंसे13एफआईआरकोदिल्लीपुलिसस्पेशलसेलकोट्रांसफरकरचुकीहै.सॉलिसिटरजनरलतुषारमेहता नेकोर्टकोबतायाइसमामलेमेंजांचएजेंसियांगंभीरतासेछानबीनकररहीहैं.मामलेकीजल्दसेजल्दजांचपूरीकरनाजांचएजेंसियोंकीप्राथमिकताहै.जांचएजेंसीकानूनीदायरेमेंरहतेहुएअपनाकामकररहीहैं.सॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतानेकोर्टकोबतायाकिइसमामलेमेंयूएपीएभीलगायाजासकताहैयानहीं,इसकोलेकरभीजांचएजेंसियां कामकररहीहैं,क्योंकि26जनवरीकीहिंसामेंकुछऐसेसंगठनभीशामिलथेजिन्हेंबैनकरदियागयाहै.

सॉलिसिटरजनरलतुषारमेहताकीतरफसेइनतमामजानकारियोंकेबादकोर्टनेयाचिकाकर्ताकोकहाकिहमइसयाचिकाकोखारिजकररहेहैं,लेकिनयाचिकाकर्तानेकहाकिवहअपनीयाचिकाकोवापसलेनाचाहतेहैं.इससेपहलेकलसुप्रीमकोर्टगणतंत्रदिवसपरराजधानीमेंहुईहिंसासेजुड़ीयाचिकापरसुनवाईसेइंकारकरचुकाहै.सुप्रीमकोर्टकाकहनाथाकिसरकारइसमामलेपरनजररखेहुएहै.जांचएजेंसियांअपनाकामकररहीहैं.ऐसेमेंकोर्टकोमामलेमेंदखलदेनेकीजरूरतनहींहै.