दिल्ली में COVID-19 परीक्षण के लिए डॉक्टर का पर्चा होना अब अनिवार्य नहीं- HC

नईदिल्ली:दिल्लीहाईकोर्टनेमंगलवारकोआदेशदियाकिराष्ट्रीयराजधानीमेंकोविड-19कीस्वेच्छासेआरटी/पीसीआरजांचकरानेवालोंकेलिएडॉक्टरकापर्चाअबअनिवार्यनहींहोगा.अबतककोविड-19जांचकेलिएलक्षणकाहोनाऔरडॉक्टरकापर्चाअनिवार्यथा.

न्यायमूर्तिहिमाकोहलीऔरन्यायमूर्तिसुब्रह्मणयमप्रसादकीपीठनेकहाकिलोगोंकोकोविड-19जांचकेलिएदिल्लीमेंनिवासप्रमाणपत्रकेतौरपरआधारकार्डलेजानाचाहिएऔरभारतीयआयुर्विज्ञानअनुसंधानपरिषद(आईसीएमआर)द्वारानिर्धारितफॉर्मभरनाचाहिए.

अदालतनेपायाकिदिल्लीमेंसंक्रमणकेमामलोंमेंवृद्धिदेखीगईहैऔरनिजीजांचप्रयोगशालाओंसेकहाकिवेप्रतिदिनऐसे2000लोगोंकीकोविड-19जांचकरेंजोयहस्वेच्छासेकरानाचाहतेहैं.दिल्लीसरकारकीमौजूदापरीक्षणक्षमता12,000जांचप्रतिदिनकरनेकीहै.

बतादेंकिभारतमेंकोरोनासेनिपटनेकेलिए3टीपॉलिसी,टेस्टिंग,ट्रेसिंगऔरट्रीटमेंटअपनाईहै.इसलिएभारतमेंटेस्टिंगपरखासध्यानदियाजारहाहै.पिछले24घंटेमेंदेशमें75,809नएमामलेसामनेआएहैंऔर1133मरीजोंकीमौतहुईहैजबकि73521मरीजठीकहुएहै.भारतमेंकोरोनासेठीकहोनेकीदरयानीरिकवरीरेट77.65फीसदीहैजबकिमृत्युदर1.70फीसदीहै.

LACपरफायरिंगकरनेकेबादभीभालालेकरजमेहुएहैंचीनीसैनिक,देखेंExclusiveतस्वीर

कश्मीर:घाटीकेबाज़ारोंमेंकोरोनाकीरैंडमटेस्टिंग,दुकानदारोंसेलेकरखरीदारोंतककीहोरहीजांच