एक ही परिवार के तीन लोगों को पांच-पांच वर्ष कारावास

घरेलूविवादकोलेकरभाईकीहत्यामेंदोषीपाएजानेपरभाई,भाभीऔरभतीजेकोपांच-पांचवर्षकारावासकीसजासुनाईगई।इसकेअलावाप्रत्येकको10-10हजाररुपयेअर्थदंडकीभीसजासुनाईगई।अपरजिलाएवंसत्रन्यायाधीशसप्तमअरविदकुमारसिंहनेयहसजासोमवारकोसुनाई।घटनामुफस्सिलथानाकांडसंख्या-93/11सेजुड़ाहै।

जानकारीकेअनुसार,मुफस्सिलथानाक्षेत्रअंतर्गतइसरीगांवनिवासीसहदेवयादवअपनेघरकेआंगनमेंचापाकालकाचबूतराबनानेकेलिएसीमेंटकामसालाबनारहेथे।उसीसमयउसघरकेउपरीमंजिलपरसहदेवकेभाईचंदरयादवउर्फरामचंद्रप्रसाद,पत्नीसुमादेवीतथापुत्रसनीलकुमारमूंगकेधूलकोनिकालरहेथे,जोनीचेआंगनमेंगिररहाथा।जिसकाविरोधसहदेवयादवनेकिया।जिसपरआगबबूलाहोकरछतपररहेभाई,भाभीएवंभतीजानेईंटपत्थरफेंककरसहदेवयादवकोजख्मीकरदिया।इलाजकेक्रममेंउनकीमौतहोगईथी।घटनाकेबाबतमृतककेपुत्रमनोजकुमारकेबयानपरमुफस्सिलथानेमेंप्राथमिकीदर्जकीगई।घटना17जुलाई2011कीशामकीबताईजातीहै।अपरलोकअभियोजकअजितकुमारद्वाराअदलातमेंगवाहोंकाबयानदर्जकरायागयाथा।गवाहोंकेबयानकेआधारपरन्यायालयनेतीनोंदोषियोंको304(2)केतहतपांचवर्षकाकारावासतथाप्रत्येकको10-10हजाररुपयेअर्थदंडकीसजासुनाई।सभीसजायाफ्ताकोजेलभेजदियागयाहै।