Gyanvapi: 'कहीं भी पत्थर रख दो, लाल झंडा रख दो, मंदिर बन गया', बोले अखिलेश

समाजवादीपार्टी(सपा)केराष्ट्रीयअध्यक्षअखिलेशयादवनेहिन्दूदेवी-देवताओंकोलेकरअयोध्यामेंऐसाबयानदियाहै,जिसपरविवादहोसकताहै.ज्ञानवापीमस्जिदकोलेकर1991मेंसंसदद्वारापारितकानूनकाहवालादेतेऔरसर्वेरिपोर्टकेलीकहोनेपरसवालउठाते-उठातेअखिलेशयादवनेसीधे-सीधेहिन्दूधर्मसंस्कृतिऔरदेवी-देवताओंकोलेकरविवादितबयानदेदिया.

सिद्धार्थनगरसेवापसलखनऊलौटतेसमयअखिलेशयादवकुछदेरकेलिएअयोध्यामेंरुके.इसदौरानपत्रकारोंसेबातकरतेहुएउन्होंनेभारतीयजनतापार्टी(बीजेपी)परहमलाकरतेहुएकहाकिहमारेहिंदूधर्ममेंकहींभीपत्थररखदो,एकलालझंडारखदोपीपलकेपेड़केनीचेऔरमंदिरबनगया.

अखिलेशयादवनेज्ञानवापीमस्जिदमें शिवलिंग मिलनेकेदावेवाले सवालपरकहा,'एकसमयऐसाथाकिरातकेअंधेरेमेंमूर्तियांरखदीगईथी.बीजेपीकुछभीकरसकतीहै.बीजेपीकुछभीकरासकतीहै.'

ज्ञानवापीमस्जिदकेसवालपरअखिलेशयादवनेकहा,'यहकोर्टकामामलाहै.सबसेबड़ीबातहैकिजिसकीजिम्मेदारीथीसर्वेकरनेकी,आखिरकारवहरिपोर्टबाहरकैसेआगई.हमारेहिंदूधर्ममेंकहींभीपत्थररखदो,एकलालझंडारखदोपीपलकेपेड़केनीचेऔरमंदिरबनगया.हमसर्वेनहींकररहेहैंनाहीहमसुप्रीमकोर्टहै.'

अखिलेशयादवनेआगेकहा,'हमयहकहरहेहैंकिबीजेपीसेसावधानरहिए.बीजेपीजानबूझकरकेज्ञानवापीमस्जिदकामामलाउठारहीहै.बड़ी-बड़ीकंपनियांबिकगईहमेंऔरआपकोपतानहींलगा.एकसमयऐसाथाकिरातकेअंधेरेमेंमूर्तियांरखदीगईथी.बीजेपीकुछभीकरसकतीहै.बीजेपीकुछभीकरासकतीहैं.

ज्ञानवापीमस्जिदविवादकोलेकरअखिलेशयादवनेसंसदद्वारा1991मेंबनाएगएकानूनकाहवालादियाऔरकहाकिजबअयोध्याकाफैसलाआयाथा,उसमेंभीइसकाउल्लेखकियागयाथा.यहीनहींउन्होंनेउम्मीदजताईकिसुप्रीमकोर्टइसकानूनपरध्यानदेगा.अखिलेशनेकहाकिबीजेपीजानबूझकरसत्तासेखिलवाड़करकेयहसबफैसलेकरवारहीहै.