हाउस टैक्स वसूली में पिछड़ा लखनऊ नगर निगम, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तलब की रिपोर्ट

लखनऊ,जागरणसंवाददाता। नगरनिगमसीमामेंसभीभवनोंकोकरकेदायरेमेंनलाएजानेकेमामलेमेंमुख्यमंत्रीदफ्तरनेरिपोर्टतलबकीहै।दैनिकजागरणनेछहसितंबरको'नगरनिगममेंदर्जनहीं44862भवनÓखबरप्रकाशितकीथी।इसखबरपरमुख्यमंत्रीकेप्रमुखसचिवसंजयप्रसादनेअपरमुख्यसचिवइसमामलेकीजांचकरानेकोपत्रलिखाहै। नगरनिगमकेसभीजोनमेंचलरहेजीआईसर्वेमें(जियोग्राफिकइंफॉरमेशनसिस्टम)44,862संपत्तियां(आवासीयवअनावासीयभवन)ऐसीपाईगईथीं,जोनगरनिगमकेअभिलेखोंमेंदर्जनहींहै।इनमेकरभीवसूलानहींजारहाहै।यहसर्वेनगरनिगमकेकुल110वार्डोंमेंसे88वार्डोंमेंकरायागयाथा।

वैसेनगरनिगमकेअभिलेखोंमें5,75,238संपत्तियांहीदर्जहै,जबकिजीआईसर्वेमें88वार्डोंमेंही6,20,100संपत्तियोंकापताचलाहै।इसहिसाबसे88वार्डोंमें44,862संपत्तियोंकाकरनिर्धारणनहींकियागयाथा,जबकि22वार्डोंकीसंपत्तियोंकीगणनाअभीकीजानीहै। नगरनिगममेंजोनलअधिकारियोंसेलेकरराजस्वनिरीक्षकोंकीलापरवाहीसेहीशतप्रतिशतभवनोंकोनगरनिगमकरकेदायरेमेंनहींपायाहै।सालोंसेएकसीटपरजमेनिरीक्षकोंकेलेकरकथिततौरपरकरनिर्धारणकेकाममेंदखलदेनेवालेलिपिकऔरयहांतककीचपरासीभीइसखेलमेंशामिलहैं,उसीभवनकाकरनिर्धारणकरतेहैं,जहांसेकुछऊपरीकमाईहोतीहै।वार्षिककिरायामूल्य(एआरवी)कोमनमानेतरहसेबढ़ानाहैऔरकमकरनेकेनामपरमनमानाचढ़ावामांगाजाताहै।

इसीतरहभवनोंकोकरकेदायरेमेंनलाकरवहांसेखुदकीकमाईकरनेकाभीखेलचलरहाहै।कुछअधिकारियोंकेसंरक्षणमेंऐसेकर्मचारियोंपरकोईकार्रवाईभीनहींहोपातीहै।यहीकारणहैकिभवनकरनिर्धारणकेखेलमेंहटाएगएकरअधीक्षकसेलेकरनिरीक्षककीजांचरिपोर्टहीकुछअधिकारियोंनेदबारखीहै।कुछसमयपहलेट्रांसपोर्टनगरमेंभवनकरमेंबड़ेपैमानेपरघपलासामनेआयाथा।दैनिकजागरणनेहीइसमामलेकोउजागरकियाथा।तबभीअधिकारीमामलेकोदबानेमेंजुटगएथेलेकिनमामलेकीगंभीरताकोदेखतेहुएनगरआयुक्तअजयकुमारद्विवेदीनेजांचकेआदेशदिएथे।जांचप्रभावितनहो,इसलिएउन्होंनेकरअधीक्षकसुनीलत्रिपाठीऔरराजस्वनिरीक्षकराहुलयादवसमेतअन्यकोजोनआठसेहटाकरजोनसातमेंभेजदियाथालेकिनअपनेप्रभावसेकरअधीक्षकफिरसेजोनआठकीउसीसीटपरबैठगए,जहांसेउन्हेंहटायागयाथा।ट्रांसपोर्टनगरकाकामभीपागए।