हिंद महासागर में चीन को ताकत दिखाने की तैयारी

नईदिल्लीहिंदमहासागरक्षेत्रमेंचीनकेबढ़तेदखलकेबीचनेवीनेइसक्षेत्रपरफोकसबढ़ादियाहै।हालकेसमयमेंचीनीपनडुब्बियोंकीमौजूदगीइसक्षेत्रमेंबढ़नेकीरपटेंमिलीहैं।नेवीनेलक्ष्यतयकियाहैकिइसइलाकेमेंजबभीकोईनजरदौड़ाए,तोभारतहीएकमात्रताकतनजरआए।नौसेनाकेकमांडरोंकाचारदिवसीयसम्मेलनशुक्रवारकोसंपन्नहुआ।सम्मेलनकीअध्यक्षताकरतेहुएनेवीचीफनेकमांडरोंकोउनकोशिशोंकीजरूरतपरबलदिया,जिससेहिंदमहासागरक्षेत्रमेंस्थिरताकायमरहे।इसकेलिएनेवीमेंतीनबातोंकीजरूरतमहसूसकीगई-विस्तार(नएशिपशामिलकरना),आधुनिकीकरण(पुरानेशिपकाअपग्रेडेशन),स्वदेशीकरण(पुर्जोंकेलिएविदेशपरनिर्भरताकमकरना)।मानाजाताहैकिचीनविमानवाहकपोतकेबेड़ेमेंबड़ेविस्तारकाइरादारखताहै।उसनेहालमेंपहलेस्वदेशीविमानवाहकपोतकोपानीमेंउतारा।इसेदेखतेहुएभारतअपनादूसराविमानवाहकपोतबनानेकीतैयारीकररहाहै।इससम्मेलनमेंविदेशसचिवएस.जयशंकरनेभीहालियासुरक्षाघटनाक्रमपरकमांडरोंकेसाथबातचीतकीजिसमेंहिंदमहासागरक्षेत्रपरहीफोकसथा।विदेशसचिवनेदेशकीकूटनीतिकपहलकीजानकारीभीकमांडरोंकोदी।सम्मेलनकीशुरुआतमेंरक्षामंत्रीनेहिंदमहासागरक्षेत्रमेंदूसरीताकतोंकेबढ़तेअसरपरबातकी।नेवीकमांडरोंकोसेनाऔरवायुसेनाकेचीफकेसाथबातचीतकरनेकाभीमौकामिलाजिन्होंनेमौजूदासुरक्षापरिस्थितियोंऔरतीनोंसेनाओंमेंतालमेलऔरसाझेदारीकोआगेबढ़ानेपरअपनेविचारसाझाकिए।सम्मेलनमेंनौसेनाकीलीडरशिपनेपिछले6महीनोंमेंकिएगएप्रमुखऑपरेशनऔरदूसरीगतिविधियोंपरगौरकिया।सेनाकीतैनातीकीतत्परतापरनजरडालीगई।