इंदिरा आवास योजना में अनियमितताओं की भरमार

संतोषकुमार,गुमला:डीआरडीएमेंइनदिनोंचोर-चोरमौसेरेभाईकीकहानीचलरहीहै।लेखापदाधिकारीमो.शाहिदअपनेकोप्रताड़ितमहसूसकररहेहैंऔरअबयहकहतेसुनेजारहेहैंकिउन्होंनेआखिरगड़बड़ीकरनेवालोंकेखिलाफकार्रवाईकीअनुशंसाक्योंकी।अगरकार्रवाईकीअनुशंसानहींकिएहोतेतोशायदउन्हेंप्रताड़ितनहींहोनापड़ता।उनकेद्वारादिएगएजांचप्रतिवेदनउपलब्धहै।जिसमेंकहागयाहैकिइंदिराआवासयोजनाकेरोकड़पंजीमेंहेरा-फेरीकीगईहै।कार्यालयकेबाबुओंनेनियमकोताकमेंरखकरमनमाफिककामकियाहै।हालांकिडुमरीप्रखंडकेइंदिराआवासमेंहुईगड़बड़ियोंकीजांचकाजिम्माअधिकारियोंनेउन्हेंसौंपीथी।सालभरपहलेजांचप्रतिवेदनडीडीसीकोसौंपागयाथा।उसकेबादसेलेखापदाधिकारीपरउन्हींकेकार्यालयकेबाबूलोगआंखतरेरनेलगेऔरजांचप्रतिवेदनबदलनेकादबावबननेलगे।जबजांचप्रतिवेदनसेइन्कारकियागयातबउनपरतानामारनेकादौरआरंभहुआ।जांचप्रतिवेदनमेंकहागयाहैकिइंदिराआवासयोजनाकेसामान्यवमरम्मतकेखातासंख्या55कापरेटिवबैंकडुमरीमेंसंचालितहै।अलगअलगतिथियोंमें97चेकोंसेदोबारभुगतानकियागया।इसकारणविभागको11,54,230रुपयेकानुकसानहुआ।इसराशिकेअवैधनिकासीकरलीगई।उसीखातासंख्यासे23चेकजारीकिएगए।जिसकीराशिजोड़करनेपरएकलाख88हजाररुपयाहोताहै,लेकिनबैंकद्वारादोलाख76हजार750रुपयेकाभुगतानभीजांचकाविषयबनाहुआहै।यानीइसबार88हजार750रुपयेकाअवैधभुगतानमानाजासकताहै।उसीखातेसे12चेकोंकेमाध्यमसेएकलाख31हजार500रुपयेनिकासीकेफरमानजारीकिएगए।लेकिनबैंकद्वारा87हजार100रुपयेकाहीभुगतानकियागया।12लाभुकोंको44हजार400रुपयेकाभुगतानकमहुआ।इसीतरहइंदिराआवासयोजनाकेरोकड़पुस्तमेंचारकरोड़97लाख67हजार501रुपयेकाभुगतानकियागया।जबकिखातासंख्या55मेंतीनकरोड32लाख,32हजार796रुपयेकाअंतरदिखरहाहै।कीगईपृच्छा

लेखापदाधिकारीनेवित्तीयअंतरकोपाकरबीडीओऔरबैंककेशाखाप्रबंधकसेयहजाननाचाहाकिआखिरकिसकारणसेयहअंतरदिखरहाहै।किनपरिस्थितियोंमेंअवैधराशिकीनिकासीहोगई।

इंदिराआवासयोजनाकेसामान्यएवंमरम्मतमदकेखातासंख्या55मेंकुलजमाराशिपांचकरोड55लाख19624रुपयेहै।बैंकद्वाराकियागयाभुगतानपांचलाख30हजार295रुपयेदिखरहाहै।इसतरहखातासंख्या55मेंदो25लाख19हजार327रुपयेअवशेषदिखनाचाहिए।जबकि25अगस्त2019कोअवशेषराशिमात्र3272रुपयेहीदिखरहाहै।इसीतरहइंदिराआवासयोजनानवनिर्माणएवंमरम्मतकाखातासंख्या649बीओआइकेडुमरीशाखामेंसंचालितहै।जांचमेंकईगड़बड़ियापाईगई।31दिसंबर2009से28फरवरी2019तकखातामेंचेकरिवर्सकीराशिसातलाख54हजार480रुपयाहै।जिसकाइंदाजरोकड़पुस्तकेआएपक्षमेंनहींपायागया।रोकड़पुस्तकाअवशेषराशि27लाख32हजार490रुपयाहोनाचाहिए।लेकिनअवशेषराशि19लाख80हजार170रुपयेअंकितहै।इसीप्रकाररोकड़पुस्तकेपृष्ठसंख्या242काअवशेषराशि79लाख11हजार511रुपयाहै।जबकिवास्तविकअवशेष75लाख11हजार511रुपयादिखरहाहै।इसतरहचारलाखरुपयाकाअंतररोकड़पुस्तमेंपरिलक्षितहोनायहदर्शाताहैकिराशिकेजोड़मेंयातोभूलहुईहैयाराशिगायबकीगईहै।जबबिरसाआवासकीराशिमेंविचलनपायागयातोडुमरीप्रखंडकार्यालयकेद्वाराइंदिराआवासयोजनाकेरोकड़पुस्तकेव्ययपक्षकेलिएराशिकेविपत्रोंकामिलानकरानेसेइन्कारकरदियागया।इंदिराआवासएवंअन्ययोजनाओंकीराशिकाबड़ेपैमानेपरविचलनहोनावित्तीयअनियमितताकेप्रमाणहैं।लेखापदाधिकारीनेविशेषअंकेक्षणकरानेजानेकेलिएसरकारसेअनुशंसाकरनेकाआग्रहअधिकारियोंसेकियाथा।जिसपरअबतककोईकार्रवाईनहींहोसकीहै।

मामलासंज्ञानमेंआयाहै।इसकीएककमेटीबनाकरजांचकराईजाएगी।आखिरकिनकारणोंसेजांचप्रतिवेदनपरकोईकार्रवाईनहींकीगई।

संजयबिहारीअंबष्ठ-डीडीसी,गुमला।