केंद्र ने अदालत को बताया, जामिया हिंसा मामले की जांच अहम चरण में

नयीदिल्ली,चारफरवरी(भाषा)केन्द्रसरकारनेदिल्लीउच्चन्यायालयकोमंगलवारकोबतायाकिसंशोधितनागरिकताकानून(सीएए)केखिलाफप्रदर्शनकेदौरानजामियामिल्लियाइस्लामियामेंहुईहिंसाकीघटनामेंजांचअहमचरणपरहै।सॉलिसिटरजनरलतुषारमेहतानेजांचकेसंबंधमेंरिपोर्टदायरकरनेकेलिएऔरसमयमांगतेहुएयहदलीलमुख्यन्यायाधीशडीएनपटेलऔरन्यायमूर्तिसीहरिशंकरकीपीठकेसमक्षरखी।दलीलपरगौरकरतेहुएपीठनेकेंद्रकोजवाबदायरकरनेकेलिए29अप्रैलतककासमयदिया।सुनवाईकेदौरान,जामियाकेकुछछात्रोंकापक्षरखरहेवरिष्ठअधिवक्ताकोलिनगोन्जाल्विसनेकहाकि93छात्रोंएवंशिक्षकोंनेउनकेऊपरहुएकथितहमलोंकीपुलिसमेंशिकायतदायरकरवाईहैलेकिनअबतकएजेंसीकेखिलाफकोईप्राथमिकीदर्जनहींकीगईहै।याचिकाकर्ताओंकेअन्यवकीलोंनेआरोपलगायाकिसरकारने19दिसंबरकोहुईअंतिमसुनवाईकेवक्तचारहफ्तेकेभीतरजवाबदायरकरनेकेलिएदिएगएअदालतकेआदेशकाअनुपालननहींकियाहै।हालांकिपीठनेअंतरिमआदेशपारितकरनेसेइनकारकियाऔरसरकारकोजवाबदायरकरनेकेलिए29अप्रैलतककासमयदिया।