कम होने लगा गोमती का जलस्तर पर मुश्किलें बरकरार

सुलतानपुर:बीतेदोदिनोंसेगोमतीनदीकाजलस्तरधीरे-धीरेकमहोरहाहै,लेकिनग्रामीणोंकीमुश्किलेंकमनहींहोरहीहै।गांवोंमेंचारोंओरपानीहीपानीनजरआरहाहै।दर्जनोंघरपानीमेंसमागएहैं,तोवहींखेत-खलिहानकावजूदहीसमाप्तहोचुकाहै।

हालातयहहैंकिपीड़ितखानाबदोशकीजिदगीजीरहेहैं।कईपरिवारस्कूलमेंतोकुछपंचायतभवनमेंशरणलिएहुएहैं।अधिकांशतोगांवछोड़करपलायनकरचुकेहैं।वहींप्रशासनकीनजरमेंबाढ़जैसेहालातनजरनहींआरहेहैं।सातदिनबीतनेकेबादभीशासन-प्रशासनकीओरसेकोईइमदादभीनहींपहुंचसकीहै।

पानीघटानेकोलेकरबाढ़पीड़ितचितित:पीड़ितनीरजमिश्र,बबलूमिश्र,रामउजागिर,एसपीदुबे,पिन्टूयादव,रामसुंदरआदिइसबातकोलेकरचितितहैंकिनदीकाजलस्तरकमतोहोरहाहै,लेकिनबहुतधीरे-धीरेहोरहाहै।पूर्वमेंआईबाढ़काजलस्तरतेजीसेकमभीहुआथा।दोदिनोंमेंहुईबरसातसेउन्हेंआशंकाहैकिएकाएकगोमतीबढ़सकतीहैं।ऐसेमेंवेक्याकरेंगे।

बाढ़क्षेत्रघोषितकरनेकीमांग:गोमतीनदीकेतटवर्तीइलाकोंअमऊ,जासरपुर,कोलिया,दुबोलिया,बनमनसाकापुरवा,लाठियाही,मंझरिया,सिहोरिया,औदहा,नौगंवा,केतराईइलाकोंमेंसातदिनोंसेबाढ़कापानीसेभराहै।इसकेचलतेलोगोंकीहजारोंएकड़धानकीखड़ीफसलपानीमेंसमागई।लोगोंकीगृहस्थीकोभारीनुकसानहुआहै।नदीकेकटानमेंसैकड़ोंबीघाजमीनजलधारामेंसमागई।बलराममिश्र,अनन्तराम,विन्धप्रसाद,रामउजागिर,रमेश,रामनयनमिश्र,शंकरमिश्रआदिलोगोंनेमुख्यमंत्रीकोपत्रलिखकरबाढ़क्षेत्रघोषितकरनेकीमांगकी।

सड़कोंपरचलरहीनाव:मायंग,धनपतगंज,कुड़वारआदिमार्गोंपरनावचलतीनजरआई।लोगकिसीतरहनावकेसहारेअपनेजरूरीकामकाजनिपटारहेहैं।वहींअधिकांशबच्चेस्कूलनहींजापारहेहैं।अभिभावककिसीतरहकाखतरामोलनहींलेनाचाहते।शनिवारकीशामनदीकाजलस्तर83.780मीटरदर्जकियागया।यहखतरेकेनिशान84.735सेतकरीबनएकमीटरनीचेहै।

सोलरलालटेनकीव्यवस्था:सातदिनसेअंधेरेमेंरातगुजररहेबाढ़पीड़ितोंकोसरकारद्वारामिट्टीकेतेलकीव्यवस्थाआजतकनहींकीगई।बिजलीकाटदीगईहैं,जिसकोध्यानमेंरखकरजिलापंचायतसदस्यप्रतिनिधिधर्मेशमिश्रने50परिवारोंकेलिएसोलरलालटेनकीव्यवस्थाकी।