कोरोना के भय से भागा मलेरिया

आफताब,कोडरमा:कोरोनाकालमेंमलेरियाकेमामलोंमेंकाफीकमीआईहै।मलेरियाविभागबरसातशुरूहोनेसेपहलेइसकीरोकथामवबचावकेलिएजरूरीकदमउठारहीहै।पिछलेदोसालकेआंकड़ेपरन•ारडालेंतोपताचलताहैकिकोरोनाकालवलॉकडॉउनकेदौरानसदरअस्पतालसहितविभिन्नप्रखंडकेस्वास्थ्यकेंद्रोंमेंमलेरियाजांचकाफीकमहुईहै,जिसकारणमलेरियापीड़ितमरीजोंकीसंख्यामेंभीकमीआईहै।उल्लेखनीयहैकिजनवरी2020सेमई2020तक7525लोगोंकीमलेरियाजांचकीगई,जिसमें18लोगोंमेंमलेरियाकेलक्षणमिलेहैं।इससेपूर्व2019में54282लोगोंकीजांचकेदौरान342लोगमलेरियापॉजिटिवमिले,जबकि2018में36804लोगोंकीमलेरियाजांचहुई,जिसमें770लोगोंमेंमलेरियाकेकेलक्षणपाएगएथे।हालांकिइनसभीपॉजिटिवकेसकापूर्णउपचारकरलियागयाथा।बतायाजाताहैकिकोरोनाकाभयलोगोंकेदिमागमेंइसकरबैठाकिसर्दीबुखारहोनेपरलोगोंनेजांचकरवानेकेबजायमेडिकलस्टोरयाअन्यप्राइवेटक्लीनिक,स्थानीयचिकित्सकसेदवालेनासहीसमझा।ज्ञातहोकिलॉकडॉउनकेपूर्वसदरअस्पतालमेंसर्दी-जुकाम,खांसी,वायरलबुखारकेआनेवालेमरीजोंकीसंख्याप्रतिदिन300केकरीबथी,जोघटकरइनदिनों100केकरीबपहुंचगईहै।मलेरियाविभाग•िालेकेविभिन्नप्रखंडसहितनपक्षेत्रोंमेंब्लीचिगपाउडरकाछिड़काव,फॉगिगमशीनकाउपयोगसहितअन्यकईकार्यक्रमचलाकरमलेरियाकेप्रतिजागरूककरनेकाप्रयासकररहीहै।

कोरोनासेडरेंनहीं,बुखारजांचअवश्यकराएं:डॉमनोज

सदरअस्पतालकेचिकित्सकसहमलेरियापदाधिकारीडॉमनोजकुमारनेबतायाकिमलेरियाकेरोकथामकेलिएप्रयासकिएजारहेहैं।लोगोंकोचाहियेकिठंडकेसाथबुखारआनेपरमलेरियाजांचअवश्यकराए।कोई•ारूरीनहींकिबुखार,सर्दीकालक्षणकोरोनाहीहो।उन्होंने•िालेवासियोंसेअपीलकरतेहुयेकहाकिकोरोनासेडरेंनहीं,औरअपनेनजदीकीस्वास्थ्यकेंद्रजाकरमेंपरामर्शअवश्यलें।उन्होंनेकहाकिझुमरीतिलैयानपक्षेत्रमेंफॉगिगकरवायागयाहै,जबकिनपक्षेत्रकोडरमामेंनगरपंचायतद्वाराफॉगिगनहींहोपारहाहै।जबकिविभागद्वाराकेमिकलवअन्यसामग्रीउपलब्धकरादियागयाहै।लोगोंकोइसगंभीरबीमारीकेप्रतिजागरूकहोनेकीआवश्यकताहै।लोगमच्छरदानीकाप्रयोगकरें।साथहीआसपासगड्ढेमें,कूलर,फ्रिज,वटायरमेंपानीजमानहींहोनेदें।अपनेआसपाससाफसफाईकाध्यानरखनेकी•ारूरतहै।ताकिमलेरिया,चिकनगुनिया,डेगूंजैसेबीमारियोंसेबचाजासकताहै।