LAC पर झड़प के बाद नौसेना के इस कदम से चीन को गया स्पष्ट संदेश, 'दुस्साहस स्वीकार्य नहीं'

नईदिल्ली:सीमापरतनावबढ़नेकेबादहिंदमहासागरक्षेत्रमेंसभीअग्रणीयुद्धपोतोंऔरपनडुब्बियोंकीआक्रामकतरीकेसेतैनातीकेजरिएभारतीयनौसेनानेबीजिंगकोस्पष्टसंदेशदेदियाहै.शीर्षरक्षासूत्रोंनेमंगलवारकोयहजानकारीदेतेहुएबतायाकिभारतकेइसरूखकोचीनसमझरहाहै.

भारतीयनौसेनाने15जूनकोगलवानघाटीमेंझड़पकेमद्देनजरसीमापरबढ़ेतनावकेबीचहिंदमहासागरक्षेत्रमेंअपनेअग्रणीयुद्धपोतोंऔरपनडुब्बियोंकीतैनातीकरअपनाइरादासाफतौरपरजाहिरकरदियाहै.

सूत्रोंनेन्यूज़एजेंसीपीटीआई-भाषाकोबतायाकिसरकारनेथलसेना,वायुसेनाऔरनौसेनाकेसाथहीकूटनीतिकऔरआर्थिककवायदकेजरिएबहुआयामीदृष्टिकोणअपनाकरचीनकोस्पष्टसंकेतदेदियाहैकिपूर्वीलद्दाखमेंउसकादुस्साहसस्वीकार्यनहींहै.

उन्होंनेकहाकिसेनाकेतीनोंअंगोंकेप्रमुखतकरीबनहरदिनविचार-विमर्शकरस्थितिसेनिपटनेऔरचीनकोभारतकेस्पष्टसंदेशसेअवगतकरानेकेलिएसमन्वितरूखसुनश्चितकररहेहैं.सूत्रोंनेबतायाकिसीमाविवादकोलेकरसैन्यजवाबपरतीनोंसेनाएंसाथमिलकरकामकररहीहैं.

नौसेनानेहिंदमहासागरक्षेत्रमेंयुद्धपोतोंऔरपनडुब्बियोंकीतैनातीबढ़ातेहुएचीनपरदबावबढ़ादियाहैक्योंकिमलक्काजलसंधिकेआसपासकाक्षेत्रसमुद्रीमार्गसेउसकीआपूर्तिकड़ीकेलिएबहुतमहत्वपूर्णहै.

विस्तारसेबताएबिनाएकसूत्रनेकहा,‘‘हांचीनहमारेसंदेशकोसमझरहाहै.’’क्याचीननेभारतकीतैनातीपरजवाबदियाहै,इसपरसूत्रोंनेकहाकिहिंदमहासागरमेंचीनीपोतोंकीगतिविधियोंमेंबढोतरीनहींदेखीगयीहै.

उन्होंनेकहाकिइसकाकारणहोसकताहैकिपीएलएकीनौसेनानेअमेरिकाकेसख्तविरोधकेबाददक्षिणचीनसागरमेंअत्यधिकसंसाधनोंकोलगारखाहै.

नौवहनकीआजादीकोप्रदर्शितकरनेकेलिएअमेरिकानेदक्षिणचीनसागरमेंकईपोतभेजेहैंऔरक्षेत्रमेंचीनकेसाथक्षेत्रीयविवादवालेदेशोंकाभीवहसमर्थनजुटारहाहै.

तेजीसेबदलतेक्षेत्रीयसुरक्षापरिदृश्यकेमद्देनजरभारतीयनौसेनाभीअमेरिकीनौसेना,जापानकेसमुद्रीसुरक्षाबलकेसाथअपनेसंचालनसहयोगकोआगेबढ़ारहीहै.

गलवानघाटीमेंझड़पकेबादवायुसेनानेसुखोई30एमकेआई,जगुआरऔरमिराज2000जैसेसभीअग्रणीलड़ाकूविमानोंकोपूर्वीलद्दाखतथावास्तविकनियंत्रणरेखाकेपासअन्यजगहोंपरतैनातकरदियाहै.

गलवानघाटीमें20सैन्यकर्मियोंकेशहीदहोनेकेबादसेनानेसीमाकेपाससैनिकोंकीतादादभीबढ़ादीहै.झड़पमेंचीनीपक्षकोभीनुकसानहुआथालेकिनउसनेइसबारेमेंकुछनहींबतायाथा.अमेरिकीकीएकखुफियारिपोर्टकेमुताबिकचीनीसेनाके35जवानहताहतहुए.

गलवानघाटीकीघटनाकेबादसरकारनेएलएसीपरचीनकेकिसीभीदुस्साहसकामुंहतोड़जवाबदेनेकेलिएसैन्यबलोंको‘पूरीआजादी’देदीहै.

चीनकादावा-भारतऔरचीनकेसैनिकसीमापरकईस्थानोंसेपीछेहटेहैं