माटी जैव विविधता संरक्षण एवं सामाजिक शोध संगठन की टीम ने स्कूल का किया दौरा

संवादसहयोगी,नाथूसरीचौपटा:

गांवकुम्हारियास्थितराजकीयस्कूलमेंदेहरादूनसेआईमाटीजैवविविधतासंरक्षणएवंसामाजिकशोधसंगठनकेविशेषज्ञोंकीटीमनेदौराकिया।टीमकईदिनोंसेक्षेत्रकीग्रामपंचायतोंवस्कूलोंसेसर्वेक्षणकेलिएफील्डसर्वेक्षणकररहीहै।टीममेंडा.वेदप्रकाश,डा.अंकिताराजपूत,प्रतीक्षामहर,ओइंद्रीलासान्याल,भावुकविजय,मृतुंज्यचौवधुरी,राज्यजैवविविधताबोर्डहरियाणाशासनद्वाराचलाएजारहेप्रोजेक्टलोकजैवविविधतापंजिका(पीबीआर)केनिर्माणकेलिएतकनीकीसहायतासमूहकेरूपमेंअध्ययनकिया।उन्होंनेबतायाकिइसपरियोजनाकामुख्यउद्देश्यक्षेत्रमेंपाएजानेवालेजैवसंसाधनोंकासंयोजीकरणएवंस्थानीयस्तरपरइनकेसंरक्षणवसंव‌र्द्धनकेलिएउचितकार्यनीतिकानियोजनकरनाहै।

इसपरियोजनाकेउद्देश्यकीपूर्तिसंस्थाद्वाराअध्ययनक्षेत्रमेंपाएजानेवालेप्राकृतिकसंसाधनजैसेवन्यजीव,पक्षी,कीट-पतंगे,फसलीपौधे,खरपतवार,औषधीयपेड़पौधेएवंक्षेत्रकीसांस्कृतिकसामाजिकधरोहरजैसेरीतिरिवा•ा,रहनसहन,परंपरागतज्ञान,पौराणिकस्थल,खानपानसेसंबंधिततथ्योंकासंकलनकियाजारहाहै।उपरोक्तकार्य,क्षेत्रकेतीनजिलोंफतेहाबाद,सिरसाऔरहिसारमेंकियाजारहाहै।इसकेअंतर्गतसभीग्रामपंचायतोंमेंग्रामस्तरपरतथाब्लॉकस्तरपरजैवविविधताप्रबंधसमितियोंकोप्रशिक्षणएवंजागरूकताकेलिएकार्यशालाकाआयोजनकियाजारहाहै।इसकार्यक्रमकाउद्देश्यहैकिविद्यार्थीजैवविविधताकेसंरक्षणकेलिएआगेआएऔरइसक्षेत्रमेंकार्यकरें।

इसअवसरपरजगदीशचंद्र,सीतारामडारा,विनोदकुमारकासनियामौजूदरहे।