मध्य प्रदेश और कर्नाटक की गुत्थी भाजपा के लिए बड़ी गांठ बनने की ओर, अपनी ही सरकार के खिलाफ अंतर्कलह

नईदिल्ली,आशुतोषझा।मध्यप्रदेशऔरकर्नाटककीअंदरूनीकलहभाजपाकेलिएऐसीगुत्थीबनगईहैजिसेजल्दहीपूरीतरहनहींसुलझायागयातोगांठभीबनसकतीहै।दरअसलपिछलेएकवर्षमेंइनदोनोंराज्योंमेंविपक्षसेकम,अंदरूनीखेमेकीओरसेपार्टीकोज्यादानुकसानपहुंचायाजारहाहै।दक्षिणमेंभाजपाकाएकमात्रराज्यकर्नाटकइसलिएज्यादाउलझगयाहै,क्योंकिवहांखुलेतौरपरमंत्रीऔरविधायकहीविवादकोहवादेतेरहेहैं।मानाजारहाहैकिकेंद्रीयनेतृत्वनेअगरसमयरहतेस्थितिपरकाबूनहींकियातोवैसीहीस्थितिआसकतीहै-जैसीतीनदशकपहलेकांग्रेसकेसाथहुईथीऔरफिरकभीकांग्रेसप्रदेशकेसबसेप्रभावशाली¨लगायतसमुदायकाविश्वासनहींजीतपाई।

मध्यप्रदेशमेंकिसीभीनेतृत्वपरिवर्तनसेफिरसेइन्कारकियागयाहै,लेकिनकर्नाटकमेंस्थितिथोड़ीअलगहै।वहांखुदमुख्यमंत्रीबीएसयेदियुरप्पाकोबारबारस्पष्टकरनापड़रहाहैकिउन्हेंनेतृत्वकाभरोसाप्राप्तहैऔरहरदोचारदिनोंबादपार्टीकेअंदरसेबदलावकीखबरोंकोहवादीजातीहै,लेकिनऐसेलोगोंपरकोईकार्रवाईनहींहोतीहै।

ध्यानरहेकि2024मेंहोनेवालेलोकसभाचुनावकेलिहाजसेदोनोंअहमराज्यहैं।कर्नाटकमेंमई2023मेंऔरमध्यप्रदेशमेंजनवरी2024मेंविधानसभाचुनावहोनेहैं।ऐसेमेंअगरविवादकायमरहातोभाजपाकीपरेशानीबढ़सकतीहै।पार्टीसूत्रोंकामाननाहैकिविधानसभाचुनावसेपहलेकर्नाटकमेंभविष्यकीगोटीबिठानेकीकवायदचलरहीहै,लेकिनपरेशानीयहहैकिलीकसेहटनेकीभीकोशिशहोरहीहै।

भाजपालंबेअरसेसेयेदियुरप्पाकेरूपमेंप्रदेशकीजिम्मेदारीलिंगायतकेहाथऔरपहलेअनंतकुमारऔरअबप्रल्हादजोशीकेजरियेब्राह्मणकोकेंद्रमेंरखकरसमन्वयबनातीरहीहै।वैसेभीप्रदेशमेंअबतकसिर्फदोबारहीब्राह्मणमुख्यमंत्रीबनेहैं-गुंडुरावऔररामकृष्णहेगड़े।जबकि1989मेंसबसेबड़ीजीतदिलानेवालेलिंगायतलीडरवीरेंद्रपाटिलकोहटानेकाहर्जानाकांग्रेसअबतकभुगतरहीहै।वीरेंद्रपाटिलकेनेतृत्वमेंउसवक्तकांग्रेसको224सीटोंवालीविधानससभामें178सीटेंमिलीथीं।उन्हेंतत्कालीनकांग्रेसअध्यक्षराजीवगांधीनेरातोंरातहटादियाथा।पाटिलनेइसकाविरोधकिया,लेकिनकांग्रेसनहींमानी।पांचसालबादहुएचुनावमेंकांग्रेसको34सीटेंमिलीं।तबसेअबतककांग्रेसको¨लगायतकेबड़ेहिस्सेकाविश्वासनहींमिलपाया।

यहसचहैकिचुनावकेवक्ततकअस्सीकीआयुपरपहुंचचुकेयेदियुरप्पाकेलिएविकल्पढूंढ़नेकीकोशिशहोरहीहै,लेकिनजानकारोंकाकहनाहैकिजिसतरहबार-बारयेदियुरप्पापरव्यक्तिगतहमलाहोरहाहैउससेसमुदायकीसद्भावनाखोसकतीहै।यहीनहींचाहेअनचाहेभाजपाकोऐसेविकल्पकीखोजकरनीहोगीजोयेदियुरप्पाकोभीनसिर्फस्वीकारहो,बल्किउनकीपसंदभीहो।ध्यानरहेकि2011मेंउनसेइस्तीफालेनेकेबादभाजपानेदोमुख्यमंत्रीबदले,लेकिनदोनोंफेलहोगए।येदियुरप्पाकेपार्टीछोड़नेकेबाद2013मेंभाजपाबुरीतरहपरास्तहोगई।

येदियुरप्पाकीवापसीकेबाद2018मेंभाजपाफिरसबसेबड़ीपार्टीबनी।ऐसीस्थितिमेंअगरभाजपासमीकरणमेंकोईबदलावलानाचाहतीभीहैतोइसकापूराध्यानरखनाहोगाकिलिंगायतकीचाबीनछूटे।गौरतलबहैकिवर्तमानमेंकांग्रेसपिछड़ीजातिकेनेतृत्व,जदएसवोगालिग्गाऔरभाजपालिंगायतसमुदायसेनेतृत्वकेलिएजानीजातीहै।इसमेंफेरबदलसेपहलेपार्टीकोनीचेतकसामंजस्यबिठानापड़सकताहै,वरनादक्षिणकाएकमात्रकिलाकमजोरपड़सकताहै।

पार्टीसूत्रोंकामाननाहैकिइसीतर्जपरमध्यप्रदेशकेनेताओंकोभीयहस्वीकारकरनाहोगाकिसक्रियताऔरलोकप्रियताकेमानकपरमध्यप्रदेशकेवर्तमानमुख्यमंत्रीशिवराजसिंहहीअव्वलहैं।