मरीजों की सेहत से खिलवाड़, दवा मिले न हो उपचार

बलरामपुर:प्रदेशसरकारस्वास्थ्यसेवाओंकोसुधारनेकेलिएभलेहीप्रतिवर्षकरोड़ोंरुपएखर्चकररहीहोलेकिन,क्षेत्रीयअस्पतालोंमेंइसकाअसरनहींदिखरहाहै।चिकित्सककुर्सीछोड़करगायबरहतेहैं।अस्पतालमेंजीवनरक्षकदवाओंकाअभावहै।अप्रशिक्षितकर्मचारियोंद्वारामरीजोंकोइंजेक्शनलगाकरउनकी¨जदगीसेखिलवाड़कियाजारहाहै।पैथालॉजीहोनेकेबादभीकमीशनकेलिएमरीजोंकोबाहरकीजांचलिखनेकाखेलभीखूबचलरहाहै।²श्यएक:समय12.05सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रगैंसड़ी।परिसरमेंएकअप्रशिक्षितस्वास्थ्यकर्मीदसवर्षकेबच्चेकोइंजेक्शनलगातामिला।राष्ट्रीयबालस्वास्थ्यकार्यक्रम(आरबीएसके)टीमकेचिकित्सकडॉ.नित्यानंदमिश्र,डॉ.अब्दुलसबूर,फार्मासिस्टहीरालालवप्रमोदबैठेमिले।डॉ.अब्दुलसबूरपैरपरपैररखकरआरामफरमातेदिखे।²श्यदो:अधीक्षकडॉ.वीरेंद्रआर्यावडॉ.सुनीलकुमारकीकुर्सीखालीमिली।ओपीडीअंदरवबाहरबैठेमरीजदर्दसेकराहतेदिखे।डॉ.सहजादअकेलेहीमरीजदेखरहेथे।सोनपुरगांवनिवासीछेदीरामनेबतायाकिउसके60वर्षीयपितारामप्यारेकोबाहरकीजांचलिखीगईहै।²श्यतीन:फार्मासिस्टविनयतिवारीमरीजोंकोदवाबांटतेमिले।यहांदस्त,सांसफूलनेवपेटदर्दसमेतकईजीवनरक्षकदवाओंकाअभावहै।पितारफीक(63)काउपचारकरनेआईशरीफुननिशानेबतायाकिदस्तकीदवाडॉक्टरनेबाहरसेलिखीहै।दृश्यचार:12.25बजेपैथालॉजीबंदमिली।बगलकमरेमेंबैठेजटाशंकरवबृजेशनेबतायाकिलैबटेक्नीशियनसंदीपकैगटीमकेलिएअभिलेखतैयारकररहेहैं।अबतकजांचकरानेवालेपांचमरीजोंकानामएकपन्नेपरदर्जकियागयाथा।जिम्मेदारकेबोल:

-अधीक्षकडॉ.वीरेंद्रआर्यकाकहनाहैकिवहजिलास्वास्थ्यसमितिकीबैठकमेंआएहैं।आरबीएसकेटीमकोउपचारकेलिएचमनीपुरगांवजानेकोकहाथा।अप्रशिक्षितकर्मचारीद्वाराबच्चेकोसुईलगाएजानेकीजानकारीनहींहै।