मुंगेर : परदेशी पिता के घर आने पर मां का हुआ एड्स, अब नवजात भुगत रहे खामियाजा

हैदरअली,मुंगेर।मुंगेरजिलेकेअसरगंज,बरियारपुर,संग्रामपुर,सदरप्रखंडऔरतारापुरप्रखंडकेगांवोंमेंआधादर्जनसेज्यादाबच्चोंमेंजन्मलेनेकेबादएचआइवीकेलक्षणमिलेहैं।इनबच्चोंकेपिताजीपरदेसमेंरोजगारकरतेहैं।सभीएड्सपीडि़तथे।घरलौटनेकेबादपत्नीभीसंक्रमितहोगई।एकश्रमिकनेबतायाकिलुधियानामेंकामकरनेकेदौरानएकहीकमरेमेंकईलोगसाथमेंरहतेथे।2021कीहोलीमेंघरआए।

कुछदिनबादउनकीतबीयतखराबहुई।इलाजकरानेगएतोउन्हेंएचआइवीजांचकीसलाहदीगई।जांचमेंउनकीरिपोर्टपाजिटिवआई।फिरपत्नीकीजांचकराईतोवहभीसंक्रमितनिकली।नंवबरमेंबेटीकाजन्महुआ,वहभीइसगंभीरबीमारीकीचपेटमेंआगई।अभीसभीकोदवादीजारहीहै।उनकेखानपानपरविशेषध्यानदियाजारहाहै।दरअसल,जिलेमें2020तकएड्समरीजोंकीसंख्या20थी।2021मेंएड्सके59नएमरीजमिले।इनमें30पुरुषव29महिलाएंहैं।एकदर्जनबच्चेभीहैं।

अधिकांशएड्सपीडि़तवैसेलोगहैंजोपरदेसमेंकामकरतेहैं।कुलमिलाकरजिलेमें373मरीजनिबंधितहैं।सदरअस्पतालमेंसंचालितएआरटीसेंटर(एंटीरेट्रोवायरलट्रीटमेंटसेंटर)कीप्रभारीअमृतासिंहनेबतायाकिदवाकेअलावाएचआइवीमरीजोंकेपासऔरकोईदूसराविकल्पनहींहै।इससंबंधमेंसिविलसर्जनडा.हरेंद्रकुमारआलोकबतातेहैंकिइसकेप्रतिसमाजकेहरलोगोंकोजागरूकहोनेकीजरूरतहै।शादीकेपूर्वलड़के-लड़कीकोएचआइवीकीजांचजरूरकरानीचाहिए।

कोरोनामेंकामछोड़करआएथेज्यादातरश्रमिक

कोरोनाकीदूसरीलहरमेंलाकडाउनलगनेकेबादजिलेमेंदूसरोंराज्योंसेबड़ीसंख्याश्रमिकवापसघरलौटेथे।तबीयतखराबहुईतोजांचमेंएचआइवीमिला।इनमेंसेकईघरोंमेंनवंबर-दिसंबरकेबीचबच्चोंकीकिलकारीगूंजीहै।एआरटीसेंटरकीप्रभारीबतातीहैकि73फीसदीयुवाओंमेंइसबीमारीकीवजहअज्ञानताहै।असुरक्षितयौनसंबंधसे94फीसद,संक्रमितमातासेतीनफीसदबच्चोंमेंयहरोगहोताहै।संक्रमितखूनसे0.1औरसंक्रमितसूईसे0.9फीसदएड्सफैलताहै।

जिलेकेअसरगंजप्रखंडमेंमार्चमेंपरदेशसेलौटेएकश्रमिककोखांसी,लगातारबुखारऔरकैय-दस्तकीशिकायतथी।इलाजकेलिएसदरअस्पतालपहुंचा।लक्षणकोदेखकरएचआइवीकीजांचहुई।जांचमेंरिपोर्टपाजिटिवआई।आठमाहबादश्रमिककोबच्चीहुईऔरवहभीसंक्रमितपाईगई।

लुधियानासेतारापुरलौटेएकश्रमिककीतबीयतखराबहोगई।पतिकेबादपत्नीकीतबीयतभीबिगड़गई।महिलादोमाहसेगर्भसेथी।दोनोंइलाजकेलिएसदरअस्पतालपहुंचे।जांचमेंरिपोर्टपाजिटिवआई।सितंबरमेंबेटीकाजन्महुआ,बच्चीसंक्रमितमिली।