फसल क्षति के आवेदन की जांच में हांफ रहा विभाग

बांका।इसबारखरीफमौसममेंबारिशनहींहोनेकीवजहसेजिलेमेंउपजीसुखाड़कीसमस्यासेनिपटनेकेलिएसरकारनेयहांकेकिसानोंकोफसलक्षतिअनुदानदेनेकीघोषणाकीहै।इसकोलेकरयहांआवेदनकीफेहरिस्तकाफीलंबीहै।जिसकीजांचमेंविभागकेपसीनेछूटरहेहैं।इसकेलिएपंचायतसेलेकरजिलावराज्यमुख्यालयस्तरतकआवेदनकीजांचकीजारहीहै।लेकिनअबतकयहांकेएकभीकिसानोंकोफसलक्षतिकेअनुदानकाभुगताननहींहोसकाहै।वहीं,सुखाड़कीवजहसेहुएफसलक्षतिकेआंकलनमेंपूरातंत्रउलझाहुआहै।बावजूदइसकेअबतकयहांखरीफफसलकीक्षतिकाडाटातैयारनहींहोसकाहै।

33दिनोंमेंपूरीहोनीहैजांचप्रक्रिया:

फसलक्षतिकेआवेदनोंकीजांचप्रक्रियायहांएकदिसंबरकेबादसेशुरुहुईहै।पंचायतसेलेकरराज्यमुख्यालयतक33दिनोंमेंजांचप्रक्रियापूरीहोनीहै।इसमेंपंचायतस्तरपरआवेदनकीजांचप्रक्रियाकृषिसमन्वयक,एटीएमवबीटीएमको20दिनोंमेंपूरीकरनीहै।जिलास्तरपरडीएओएवंएडीएमकोपांचदिनोंमेंजांचकरआवेदनकीजांचरिपोर्टराज्यमुख्यालयकेलॉ¨गनमेंफॉरवर्डकरनीहै।जहांतीनदिनमेंजांचप्रक्रियापूरीकरकिसानोंकेखातेमेंअनुदानकीराशिकाभुगतानकियाजानाहै।निर्धारितसमयपरआवेदनकीजांचप्रक्रियापूरीनहींकरनेपरस्वत:हीकिसानोंकेखातेमेंअनुदानकीराशिकाभुगतानहोजाएगा।

6318किसानोंकेआवेदनहुएस्वीकृत:

फसलक्षतिअनुदानकेलिएजिलेकेकुल86हजार296किसानोंनेऑनलाइनआवेदनकिएहैं।इसमेंएसीद्वारा15हजार209आवेदनस्वीकृतकिएगएथे।इसमें451आवेदनअस्वीकृतकिएगए।जबकिडीएओनेएकआवेदनकोअस्वीकृतकरतेहुए12हजार381आवेदनस्वीकृतकिएहैं।इसमेंएडीएमनेएकआवेदनअस्वीकृतकरतेहुए6318आवेदनकीस्वीकृतपरअपनेमुहरलगाएहैं।

फसलक्षतिअनुदानकेआवेदनोंकीजांचमेंपंचायतसेलेकरजिलास्तरतककेपदाधिकारीवकर्मीलगेहैं।फसलक्षतिकेआवेदनकीसूचीलंबीहैजबकिविभागकेपाससीमितसंसाधनहैं।इससेकमकिसानोंकीजांचप्रक्रियापूरीहोसकीहै।लेकिनइसमेंऔरअधिकतेजीलानेकेप्रयासकिएजारहेहैं।जिससेसमयपरकिसानोंकोअनुदानकीराशिकाभुगतानकरदियाजाएगा।

सुदामामहतो,डीएओ