पीएचसी खुद बीमार, रोगी हो जाते हैं रेफर

जमुई।मरीजोंकोबेहतरस्वास्थ्यसुविधामुहैयाकरानेकोलेकरचकाचकअस्पतालभवनबनायागया,लेकिनमरीजोंकोइसकालाभनहींमिलपारहाहै।डेढ़लाखकीआबादीवालाअलीगंजप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रखुदहीबीमारहै।संसाधनोंऔरचिकित्सकोंकीकमीकारोनारोरहाहै।अस्पतालमेंरोजाना50से70मरीजइलाजकरानेआतेहैं।चिकित्सककीकमीकेकारणअधिकांशरेफरहोजातेहैंयाफिरप्राइवेटअस्पतालकाचक्करकाटतेहैं।परिवारनियोजनकेलिएआनेवालीमहिलाओंकोबेडकेअभावमेंफर्शपरलिटायाजाताहै।

सृजितपदोंकेआधारपरनहींहैकर्मी

प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रअलीगंजमेंसृजितपदकेमुताबिककर्मीकार्यरतनहींहै।चिकित्सकएवंअन्यकर्मियोंकाहै।महिलाचिकित्सककीभीअभावहै।

आउटसोर्सिंगसेहोतीहैजांच

प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रमेंआउटसोर्सिंगसेएक्स-रेतथाअन्यजांचकीव्यवस्थाहै।संस्थागतप्रसवकेलिएएंबुलेंससेप्रसूताकोलानेएवंपहुंचानेकाकार्यकियाजाताहै।प्रसूतामहिलाकोप्रोत्साहनराशिकेरूपमें1400रुपयेउसकेखातेकेमाध्यमसेदियाजाताहै।परिवारनियोजनकार्यक्रमकेलिएलोगोंकोजागरूककियाजाताहै।

अस्पतालमेंनहींहैअल्ट्रासाउंडकीव्यवस्था

प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रमेंअल्ट्रासाउंडकीव्यवस्थानहींहै।लिहाजा,प्रसूताकोइसकेलिएजमुईजानापड़ताहै।

उपलब्धसंसाधनमेंमरीजोंकोहरसुविधाप्रदानकीजारहीहै।कोरोनाकालमेंभीबेहतरस्वास्थ्यसुविधादेनेमेंजुटेरहे।वैक्सीनेशनकाकार्यभीयुद्धस्तरपरजारीहै।इसकोलेकरभीगांव-गांवमेंजाकरजागरूककियाजारहाहै।

डा.कमलकृष्णरंजन,चिकित्सापदाधिकारी,प्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रअलीगंज