संकट की घड़ी में उत्तराखंड के गांवों में मनरेगा का संबल, छह लाख से ज्यादा को मिला रोजगार

देहरादून,राज्यब्यूरो।कोरोनाकालमेंउत्तराखंडकेगांवोंसेनिरंतरअच्छीखबरेंआरहीहैं।खासकर,महात्मागांधीराष्ट्रीयग्रामीणरोजगारगारंटीअधिनियम(मनेरगा)केमामलेमें।कोरोनाकेचलतेजहांतमामगतिविधियांपूरीतरहठपहोगईथीं।वहीं,गांवमेंरहनेवालोंऔरबदलीपरिस्थितियोंमेंवापसगांवलौटेप्रवासियोंकोरोजगारदिलानेकीदिशामेंमनरेगानेनईइबारतलिखडालीहै।20अप्रैलसेमनरेगाकीगतिविधियांप्रारंभहोनेकेबादसेअबतकछहलाखसेज्यादाव्यक्तिमनरेगाकेतहतहोनेवालेकार्योंमेंबतौरश्रमिककार्यकररहेहैं।इनमें75हजारसेज्यादावेप्रवासीभीशामिलहैं,जोकोरोनाकेचलतेदेशकेविभिन्नहिस्सोंसेवापसलौटेहैं।

दरअसल,कोरोनाकेकारणअन्यगतिविधियोंकीभांतिमनरेगाकेकार्यभीबंदकरदिएगएथे।केंद्रसरकारसेछूटमिलनेकेबाद20अप्रैलसेउत्तराखंडकेगांवोंमेंमनरेगाकेतहतकार्यप्रांरभकिएगएतोग्रामीणोंनेइन्हेंहाथोंहाथलिया।मनरेगाकेकार्योंकालगातारबढ़तादायराऔरइनमेंश्रमिकोंकाबढ़ताआंकड़ाइसकीतस्दीककरताहै।नसिर्फस्थानीयजनबल्किप्रवासियोंकेलिएवर्षमेंसौदिनकारोजगारमुहैयाकरानेवालीमनरेगासंकटकीघड़ीमेंबड़ासंबलबनकरउभरीहै।आंकड़ेइसकीगवाहीदेरहेहैं।मनरेगामेंअबतकराज्यभरमें47769कार्यप्रारंभकिएगएहैं,जबकिश्रमिकोंकीसंख्या632964पहुंचगईहै।यहीनहीं,गांवलौटेप्रवासियोंमेंसे90608श्रमिकोंकेपंजीकरणकरउन्हेंजॉबकार्डमुहैयाकराएगएहैं,जिनमेंसे73127मनरेगामेंबतौरश्रमिकरोजगारपाएहुएहैं।

टूटरहीकामगारोंकीहिचक

उत्तराखंडमेंमनरेगासेकामगारोंकीबेड़ियांभीटूटरहीहैं।अभीतकगांवोंमेंहोनेवालेविभिन्नकार्योंमेंबतौरश्रमिकभागीदारीकोलेकरजोहिचकबनीथी,वहटूटीहै।आंकड़ेइसकीगवाहीदेरहेहैं।उत्तराखंडमेंमनरेगाकेराज्यसमन्वयकमोहम्मदअसलबतातेहैंसभीआयुवर्गकेलोगमनरेगामेंकामकररहेहैं।युवाजोशभीकमनहींहै।श्रमिकोंमेंज्यादातर18से45आयुवर्गकेव्यक्तिशामिलहैं।यहएकअच्छासंकेतहै।इससेजहांगांवोंमेंएसेटखड़ेहोरहे,वहींग्रामीणोंकोरोजगारभीमिलरहाहै।

मुख्यरूपसेयेहोरहेकार्य

मनरेगाकेतहतग्रामीणइलाकोंमेंजलसंरक्षण-संवर्धन,ग्रामीणअवस्थापना,सिंचाईगूलोंकानिर्माणऔरमरम्मत,पौधारोपण,आजीविकासंवर्धन,खेतोंकीदीवारकानिर्माणसमेतकईकार्यचलरहेहैं।

रोजगारपानेवालेपरिवारोंकीबढ़ेगीसंख्या

राज्यमेंमनरेगाकोलेकरग्रामीणोंनेजिसप्रकारउत्साहदिखायाहै,उसेदेखतेहुएइसमर्तबायहांमनरेगामेंसौदिनकारोजगारपानेवालेपरिवारोंकीसंख्याबढ़सकतीहै।असलमेंमनरेगामेंपंजीकृतप्रत्येकपरिवारकोसौदिनकाअकुशलरोजगारदिएजानेकीगारंटीहै।उत्तराखंडमेंपिछलेकईवर्षोंसेप्रतिवर्षसिर्फ43दिनकाऔसतरोजगारहीमिलपारहाहै,जोकिराष्ट्रीयऔसतसेकाफीकमहै।आंकड़ोंकेमुताबिकमनरेगामेंपंजीकृतपरिवारोंमेंप्रतिवर्षऔसतनरोजगारपानेवालोंकीसंख्यापिछलेकईवर्षोंसे23311केइर्द-गिर्दहीसिमटीहुईहै।ऐसेमेंइससालयहसंख्याबढ़नेकीसंभावनाहै।

मनरेगामेंबोलतेआंकड़े

जिला-चलरहेकार्य-श्रमिकोंकीसंख्या

पिथौरागढ़-5360-46783

रूद्रप्रयाग -3899-27528

उत्तरकाशी-3741 -68216

यहभीपढ़ें:लॉकडाउनकेबादउत्तराखंडमेंइलेक्ट्रॉनिकउद्योगकाकारोबारटॉपपर,समझिएआंकड़ोंमें

प्रवासियोंकोरोजगार

जिला-नएजॉबकार्ड-रोजगारपाएश्रमिक

पिथौरागढ़-6806-3605

रूद्रप्रयाग -3679-3679

उत्तरकाशी-9438-9334

यहभीपढ़ें:सूर्यधारझीलकाडीएमश्रीवास्तवनेकियानरीक्षण,कहा-निर्माणमेंगुणवत्ताकारखेंख्याल