सुखाड़ की चपेट में 78 हजार किसान

जामताड़ा:जिलेकेसभीप्रखंडसुखाड़ग्रस्तक्षेत्रघोषितहोतेहीकिसानोंकोफसलक्षति-पूíतलाभदिलानेकीप्रक्रियाजिलाप्रशासननेशुरूकरदीहै।बतादेंकिबारिशकेअभावमेंधानफसलकीक्षतिहुईहै।इसनिमितराज्यसरकारनेजिलेकेसभीछहप्रखंडकोसुखाड़क्षेत्रघोषितकियाहै।इधरजिलेमेंसुखाड़राहतसंबंधितयोजनानिर्माणकार्यआरंभकरलोगोंकोकामदेनेकीप्रक्रियाशुरूकीगईहै।वहीं33फीसदीसेअधिकधानफसलक्षतिहोनेवालेकिसानोंकोकृषिफसलक्षतिअनुदानदिलानेकोप्रयासकररहीहै।इसनिमितजिलाप्रशासननेअंचलाधिकारीवकृषिविभागकेद्वाराक्षेत्रमेंधानफसलहुएक्षतिकाआकलनरिपोर्टतैयारकिया।रिपोर्टमें33फीसदीसेअधिकधानफसलक्षतिहोनेकाआकलनरिपोर्टमेंअंकितकियागया।इतनाहीनहींक्षतिग्रस्तफसलकाउचितमूल्यभीनिर्धारणकररिपोर्टमेंशामिलकियागयाहै।अंचलएवंकृषिविभागसेप्राप्तआकलनरिपोर्टकोउपायुक्तनेराज्यमुख्यालयकेमाध्यमसेकेंद्रसरकारकोअनुमोदनहेतुभेजदियाहै।केंद्रस्तरसेअनुमोदनकेउपरांतकिसानोंकोफसलक्षतिअनुदानराशिकाभुगतानकियाजायेगा।केंद्रसरकारकोसौंपीगईरिपोर्टमें78हजारवैसेकिसानहैजिसका33फीसदीसेअधिकधानफसलबारिशकेअभावमेंक्षतिग्रस्तहुआहै।----राहतकार्यकीयोजनानिर्माणकार्यआरंभ:बारिशकेअभावमेंधानफसलक्षतिग्रस्तहोनेकेउपरांतकिसानवमजदूरोंकापलायननहीहोएवंभूमिमेंजलस्तरबरकरारबनारहेइसनिमितजलसंरक्षणआधारितकईयोजनाओंकानिर्माणकार्यमनरेगाकेतहतगांवोंमेंकियाजारहाहै।छोटे-छोटेजलश्रोत,ट्रैंचक¨टग,डोभानिर्माण,कंटूरनिर्माणसमेतअन्ययोजनाकानिर्माणकियाजारहाहै।इसीनिमितजलश्रोतकेआसपासपौधरोपनकीतैयारीभीचलरहीहै।----¨सचितक्षेत्रमें13500रूपयेप्रतिहेक्टेयर:जिलेमेंदोश्रेणीकीभूमिमेंफसलउत्पादनहोताहै।पहलावर्षापातआधारितक्षेत्रव¨सचितक्षेत्रमेंधानफसलकाउत्पादनहोताहै।सरकारनेदोनोंश्रेणीकीभूमिमेंनष्टफसलकेलिएअलगअलगदरनिर्धारणकियाहै।¨सचितक्षेत्रमें13हजार500रूपयेजबकिवर्षापातआधारितकृषिकेलिए6हजार800रूपयेप्रतिहेक्टेयरदरनिर्धारणहै।इसीदरपरक्षतिग्रस्तफसलकाआकलनकरफसलक्षतिअनुदानराशिकीमांगकीगईहै।--वर्जन:राज्यमुख्यालयकेनिर्देशपरअंचलकार्यालयएवंकृषिविभागद्वाराप्रखंडस्तरपरधानफसलक्षतिकाआकलनरिपोर्टतैयारकरउपायुक्तकेमाध्यमसेराज्यमुख्यालयकोभेजागयाहै।भेजेगयेरिपोर्टमें78हजारकिसानोंकाधानफसलक्षतिग्रस्तहोनेकाजिक्रहै।इसनिमितफसलक्षतिअनुदानराशिकेरूपमें30करोड़रूपयेआवंटनकीमांगकीगईहै।केंद्रसेअनुमोदनकेउपरांतअग्रेतरकार्रवाईहोगी।

--नंदकिशोरलालअपरसमाहर्ता।