स्वास्थ्य बजट ऐसा कि खिल जाए सेहत

मेरठ,जेएनएन।स्वास्थ्यपर2.38लाखकरोड़रुपयेकेरिकार्डबजटसेचिकित्सकोंकेचेहरेपरचमकहै।पहलीबारजीडीपीकादोफीसदबजटस्वास्थ्यपरखर्चहोगा।बुनियादीसरकारीस्वास्थ्यसेवाओंकोनईताकतमिलेगी।जिलोंमेंविश्वस्तरीयइमरजेंसीसेंटर,इंटीग्रेटेडलैबखोलेजाएंगे।फार्माकंपनियोंकीसेहतसुधरेगी,औरइसबहानेएमएसएमईसेक्टरमेंरोजगारबढ़ेगा।

क्याकहतेहैंडाक्टर

किसीसरकारनेपहलीबारस्वास्थ्यसेवाओंकेप्रतिगंभीरतादिखाईहै।गांवोंतकविश्वस्तरीयस्वास्थ्यसेवा,क्रिटिकलकेयरसेंटरएवंजांचलैबबनानेकीमंशाबेहतरीनहै।निजीक्षेत्रकेअस्पतालोंपरलोडकमहोगा।इलाजकीगुणवत्ताबढ़ेगी।स्वच्छताऔरस्वास्थ्यपरअमलहुआतोस्वस्थभारतदुनियाकोनईराहदिखाएगा।

डा.राजीवअग्रवाल,हृदयरोगविशेषज्ञ

पिछलेसाल94000करोड़औरइसबार2.38लाखकरोड़कास्वास्थ्यबजटदिखाताहैकिकेंद्रसरकारस्वास्थ्यसेवाओंमेंबड़ेसुधारकीओरचलपड़ीहै।स्वास्थ्यबुनियादीजरूरतहै,जिसकाअसरसभीक्षेत्रोंकेविकासपरपड़ेगा।यकीनन,स्वास्थ्यमंत्रीडा.हर्षवर्धनकीअहमभूमिकाहोगी।

डा.तनुराजसिरोही,फिजिशियन

केंद्रसरकारनेमहामारीसेसबकलेतेहुएबजटमेंस्वास्थ्यपरफोकसकियाहै,लेकिनइसेजिम्मेदारीकेसाथतत्परतासेपूराकरनाहोगा।75हजारग्रामीणहेल्थसेंटरसेलेकरस्पेशियलिटीसेंटरखुलेंगे,जोसरकारीसेवाओंकोबेहतरकरेगा।स्वच्छतापरफोकससेभीबीमारियांकमहोंगी।

डा.सुनीलगुप्ता,चेयरमैन,केएमसी

यूएसएसमेतकईदेशजीडीपीका8-9फीसदतकस्वास्थ्यपरखर्चकरतेहैं,लेकिनभारतमेंपहलेकरीब1.2फीसदखर्चहोताथा।पहलीबारदोफीसदसेज्यादाबजटखर्चहोगा,जोबहुतअच्छासंकेतहै।देशमेंचारनएवायरोलोजीकेंद्रबनाएजाएंगे,जिससेसंक्रामकबीमारियोंकोरोकनेमेंमददमिलेगी।

डा.अमितउपाध्याय,बालरोगविशेषज्ञ

बजटकेजरिएसरकारआत्मनिर्भरभारतकासंदेशदेरहीहै।छहसौसेज्यादाजिलोंमेंक्रिटिकलकेयरहास्पिटलखोलनाबड़ीसौगातहै।नेशनलसेंटरफारडिजीजकंट्रोलपोर्टलकोऔरमजबूतकियाजाएगा।स्वच्छतापर2.80लाखकरोड़काखर्चभीबीमारियांकमकरेगा।

डा.उमंगअरोड़ा,बालरोगविशेषज्ञ

पब्लिकसेक्टरकीस्वास्थ्यसेवाओंकोविश्वस्तरीयबनानाबेहदजरूरीहै,औरमोदीसरकारनेबजटमेंयहीआत्मविश्वासदिखायाहै।नौबायोलैबऔरवायरोलोजीकेचारसंस्थानबनानेसेभारतकीशोधक्षमताबढ़ेगी।फार्मास्यूटिकलमेंपूंजीबढ़नेसेरोजगारबनेंगे।शानदारबजटहै।

डा.अमितजैन,कैंसररोगविशेषज्ञ

-स्वास्थ्यसेवाओंकोविश्वस्तरीयबनानेवालाबजटहै।सार्वजनिकक्षेत्रकीचिकित्सासेवाओंकोअपग्रेडकरस्वस्थभारतकीसंकल्पनासाकारकीजारहीहै।गांवोंतकसुपरस्पेशियलिटीकेंद्रवलैबबनेंगी।वैक्सीनपर35हजारकरोड़अलगसेदियागयाहै।स्वास्थ्यसेवाओंमेंभीभारतदुनियाकाअग्रणीदेशबनेगा।

डा.अखिलेशमोहन,सीएमओ