स्वास्थ्य के प्रति लोगों को होना होगा गंभीर

मोतिहारी।जिलेकेलोगस्वास्थ्यकोलेकरगंभीरनहींहै।मनुष्यके20से35वर्षकीउम्रमेंमेटाबॉलिजमठीकरहताहैजोएकनिश्चितउम्रकेबादखराबहोनेलगताहै।इसकामुख्यकारणलाइफस्टाइलहै।उम्रकेखासपड़ावकेबादकार्डियेककीपरेशानीशुरूहोनेलगतीहै।इसकामुख्यकारणजिलेकेलोगोंनियंत्रितभोजननहींकरनाहै।उक्तबातेंब्रावोफार्माकेनिदेशकउद्योगपतिराकेशपांडेयनेरविवारकोरोटरीक्लबकेतत्वावधानमेंशहरकेएकनिजीअस्पतालमेंमेंआयोजितनिश्शुल्कस्वास्थ्यशिविरमेंउपस्थितलोगोंकोसंबोधितकरतेहुएकही।श्रीपांडेयनेकहाकिसुबहमेंभरपूरनास्ता,जरूरतकेअनुसारदिनकाखानावरातमेंकमभोजनकरहमबहुतसारेरोगोंसेबचसकतेहैं।वहीरोटरीसदस्यई.विभूतिनारायण¨सहनेकहाकीरोटरीआपदाकेक्षेत्रमेंबेहतरकार्यकरतीहै।सभीसंगठनकेलोगएकसाथमिलकरकामकरेंगेतोऔरबेहतरहोगा।डॉ.ओमप्रकाशनेकहाकिमधुमेहजिलेमेंसबसेतेजीसेफैलरहीहै,इसकेलिएलोगोंकोजागरूककरनाहोगा।मधुमेहकेरोगियोंकोखानपानपरविशेषध्यानदेनेकीजरूरतहै।इसकेउपरांतउद्योगपतिराकेशपांडेयकोरोटरीकाबैचलगाकरउन्हेंरोटरीकीसदस्यबनायागया।स्वास्थ्यशिविरमेंमधुमेह,उच्चरक्तचापसहितअन्यबीमारियोंकेलगभगपांचसौमरीजोंकेस्वास्थ्यजांचकेबादउनकेबीचदवाकावितरणकियागया।मौकेपररोटरीकेसचिवडॉ.अमितकुमार,महेशचंद्रसिद्ध,पुष्पाकिशोर,मिनीद्विवेदी,डॉ.अनूपकुमार,महेश¨सह,डॉ.आशुतोषकुमार,अभिमन्युकुमार,विकासकुमार,राकेशरौशनआदिमौजूदथे।