थरूर बोले, जनता में पार्टी के प्रति 'डांवाडोल' होने की बन रही धारणा, पूर्णकालिक अध्यक्ष खोजने की जरूरत

जनतामेंपार्टीकेप्रतिबनरहीगलतधारणा

शशिथरूरनेरविवारकोकहाकिजनतामेंपार्टीकेप्रति'डांवाडोल'होनेधारणाबनरहीहैजिसेखत्‍मकरनेकेलिएकांग्रेसकोएकपूर्णकालीनअध्यक्षखोजनेकीप्रक्रियामेंतेजीलानीचाहिए।थरूर(ShashiTharoor)नेकहाकिमैंनिश्चितरूपसेसोचताहूंकिराहुलगांधी(RahulGandhi)केपासपार्टीकानेतृत्वकरनेकीक्षमताऔरयोग्यताहैलेकिनयदिवहऐसानहींकरनाचाहतेहैंतोपार्टीकोनएप्रमुखकाचुनावकरनेकेलिएकदमउठानाहोगा।थरूरकायहबयानऐसेसमयसामनेआयाहैजबसोनियागांधीकाअंतरिमप्रमुखकाकार्यकाल10अगस्‍तकोखत्‍महोनेवालाहै।

सोनियाजीऔरअपेक्षानहींकीजासकती

शशिथरूरनेकहाकिमैंमानताहूंकिहमेंअपनेनेतृत्वकोआगेबढ़ानेकेबारेमेंस्पष्टहोनाचाहिए।मैंनेपिछलेसालअंतरिमप्रमुखकेरूपमेंसोनियाजीकीनियुक्तिकास्वागतकियाथालेकिनमेरामाननाहैकिउनसेअनिश्चितकालकेलिएइसजिम्‍मेदारीकोसंभालेरखनेकीअपेक्षाकरनाबेमानीहै।पूर्वकेंद्रीयमंत्रीनेकहाकिहमेंलोगोंमेंबढ़तीऔरमीडियाकीओरसेतूलदीजारहीयहधारणाभीखत्मकरनीहोगीकिकांग्रेसविश्वसनीयराष्ट्रीयविपक्षकीभूमिकानिभापानेमेंअक्षमहै।कांग्रेसकोएकपूर्णतयाअध्यक्षखोजनेकेलिएएकलोकतांत्रिकप्रक्रियाकीतत्कालजरूरतहै।

अध्यक्षपदकेलिएकरायाजाएचुनाव

थरूरनेकहाकियदिराहुलगांधीफिरसेनेतृत्वकरनेकेलिएतैयारहैंतोउन्हेंअपनाइस्तीफावापसलेनाहोगा।वहदिसंबर2022तकसेवादेनेकेलिएचुनेगएथेऔरउन्हेंफिरसेबागडोरथामनीहोगीलेकिनयदिवहऐसानहींकरतेहैंतोमेरायहनिजीविचारहैकिकांग्रेसकार्यकारीसमितिऔरअध्यक्षपदकेलिएचुनावकराएजानेसेनिश्चितरूपसेपार्टीकेहितमेंकईपरिणामआएंगे।

राहुलनेदिखाईलॉकडाउनमेंबेहतरीनदूरदृष्टि

थरूरनेकहा,'लॉकडाउनकेदौरानअपनीगतिविधियोंकेजरिये,चाहेयहकोविड-19कामुद्दाहोयाचीनकीघुसपैठका,राहुलगांधीनेअकेलेहीमौजूदासरकारकोउसकेकार्योएवंनाकामियोंकेलिएजवाबदेहठहरानेकाउल्लेखनीयकामकियाहै।'

धर्मनिरपेक्षतासेसमझौतानहींकिया

राममंदिरकेमुद्देपरथरूरनेकहाकिवहनहींमानतेहैंकिपार्टीनेधर्मनिरपेक्षतासेकोईसमझौताकियाहै।राहुलखुदहीस्पष्टकरचुकेहैंकिउनकाअपनाधर्महिंदूहैलेकिनवहहिंदुत्वकाकिसीभीरूपसमर्थननहींकरेंगे,चाहेवहसौम्यहोयाकठोर।कांग्रेसअल्पसंख्यकों,कमजोरलोगोंकीसुरक्षितशरणस्थलीहै।

पहलेभीउठाचुकेहैंमुद्दा

ऐसानहींहैकिथरूरनेऐसीबातपहलीबारकहीहै।थरूरनेइससालफरवरीमेंकहाथाकिलोगोंमेंएकधारणाबनगईहैकिपार्टीअपनीराजनीतिकपहचानसेभटकगईहै।इसधारणाकोतोड़नेकेलिएहमेंएकसक्रियऔरपूर्णकालिकअध्यक्षकीजरूरतहै।थरूरनेतबभीकहाथाकिलोगोंमेंकांग्रेसके'डांवाडोल'होनेकीबढ़रहीधारणाकोदूरकरनेकेलिएनेतृत्वकेमुद्देकोशीर्षप्राथमिकताकेआधारपरहलकरनाचाहिए।अनिश्चितताकासमाधानकरनापार्टीकोफिरसेखड़ाकरनेकेलिएअत्यंतजरूरीहै।

संदीपदीक्षितनेभीकहीथीयहीबात

अभीहालहीमेंकांग्रेसनेतासंदीपदीक्षितनेभीथरूरसेमिलतीजुलतीबातकहीथी।संदीपदीक्षितनेकहाथा‍किपार्टीमेंअसमंजसकीस्थितिपैदाहोगईहै।यदिइससमयपार्टीकोपूर्णकालिकअध्यक्षनहींमिलताहैतोबहुतदेरहोजाएगी।कांग्रेसकार्यसमिति(सीडब्ल्यूसी)कोप्राथमिकताकेआधारपरपहलेहीपार्टीनेतृत्वकेमसलेकासमाधानकरलेनाचाहिए।दीक्षितनेकहाथाकिकांग्रेसमेंअसमंजसकीभवनाहैऔरमहसूसकियाजारहाहैकिपार्टीकोआगेलेजानेकेलिएअंतरिमअध्यक्षकेसाथहीअपनाकामकरनाहोगा।