टीपीपी समझौता एशिया-प्रशांत के लिए अहम

बीजिंग,6अक्टूबर– ट्रांसपैसिफिकपार्टनरशिप(टीपीपी)एशिया-प्रशांतक्षेत्रकेमुख्यमुक्तव्यापारसमझौतोंमेंसेएकहै।चीनकेवाणिज्यमंत्रालय(एमओसी)नेमंगलवारकोयहबातकही। यहभीपढ़ें- नईविदेशव्यापारनीतिबुधवारको

एमओसीवेबसाइटपरजारीबयानकेमुताबिक,चीनविश्वव्यापारसंगठनकेनियमोंकेतहतऐसेकिसीभीतरहकेतंत्रकेलिएखुलाहै,जोएशिया-प्रशांतआर्थिकएकीकरणकोबढ़ावादेसकताहै।

चीनकामाननाहैकिटीपीपीसमझौताऔरक्षेत्रकेअन्यमुक्तव्यापारसमझौतेएक-दूसरेकोबढ़ावादेसकतेहैंऔरएशिया-प्रशांतमेंव्यापार,निवेशऔरआर्थिकविकासमेंयोगदानदेसकतेहैं। एशिया-प्रशांतक्षेत्रके12देशोंकेबीचसोमवारकोयहसमझौताहुआऔरइसकेसाथहीयहविश्वकासबसेबड़ामुक्तव्यापारक्षेत्रबनगयाहै।