उच्चतम न्यायालय ने डी पी यादव की जमानत अर्जी खारिज की

नयीदिल्ली,आठफरवरी(भाषा)उच्चतमन्यायालयनेहत्याकेएकमामलेमेंउम्रकैदकीसजाकाटरहेउत्तरप्रदेशकेनेताडीपीयादवकीमेडिकलआधारपरजमानतकीमांगवालीयाचिकाशुक्रवारकोखारिजकरदी।हालांकि,शीर्षअदालतनेदेहरादूनकेजेलकेप्रशासनकोयहसुनिश्चितकरनेकेलिएसभीकदमउठानेकानिर्देशदियाकिउनकीस्वास्थ्यकीस्थितिकाखयालरखाजाए।यादवकोइससेपहलेगाजियाबादकेयशोदाहॉस्पिटलएंडरिसर्चसेंटरमेंमेरूदंडकीसर्जरीकरानेकेलिएअंतरिमजमानतदीगयीथी।वहइसप्रक्रियाकेबादशीर्षअदालतकेआदेशपरपिछलेसालछहदिसंबरकोजेललौटआएथे।नयीअर्जीमेंकहागयाहैकिउन्हेंऑपरेशनकेबादकीजटिलताएंहोगयीहैंऔरइसबातकोध्यानमेंरखतेहुएउन्हेंजमानतदीजाएकिजेलअधिकारियोंनेभीसुझावदियाहैकिउनकाअखिलभारतीयआयुर्विज्ञानसंस्थानमेंइलाजकरायाजाए।प्रधानन्यायाधीशरंजनगोगोईकीअध्यक्षतावालीपीठनेकहाकिवहउन्हेंजमानतनहींदेगी,बल्किवहनैनीतालउच्चन्यायालयसेहत्याकेमामलेमेंउनकीदोषसिद्धिकेखिलाफउनकीअपीलपरसुनवाईजल्दपूरीकरनेकेलिएकहेगी।यादवको2015मेंदेहरादूनकीसीबीआईअदालतनेगाजियाबादकेदादरीकेविधायकमहेंद्रसिंहभाटीकीहत्यामेंभूमिकाकोलेकरउम्रकैदकीसजासुनायीथी।भाटीकीदिसंबर,1992मेंदादरीरेलवेक्रॉसिंगपरगोलीमारकरहत्याकरदीगयीथी।सीबीआईअदालतकेफैसलेकेविरुद्धयादवकीअपीलउच्चन्यायालयमेंलंबितहै।