उत्तराखंड में मतदान के बाद भी क्याें बढ़ी हैं धड़कनें, एक ऐसा रिकार्ड जिसे कोई नहीं दोहराना चाहता

प्रमोदपांडे,हल्द्वानी।राज्यमेंपांचवींविधानसभाकेगठनकेलिए14फरवरीकोहुएमतदानकेबादअबसबकीनजरें10मार्चकोहोनेवालीमतगणनापरटिकीहैं।यदि2017कोछोड़देंतो2002सेलेकर2012तककीविधानसभागठनमेंनेतासदनकेचयनमेंउपचुनावकीभीरवायतरहीहै।ऐसेमेंवर्तमानपरिदृश्यमेंमतदातासेलेकरराजनीतिकदलोंवउनसेजुड़ेनेताओंकीधड़कनबढऩालाजिमीहै।

2000मेंउत्तरप्रदेशपुनर्गठनकेबादनौनवंबरकोबनेउत्तराखंडमेंअंतरिमविधानसभाकानेतृत्वनित्यानंदस्वामीनेकियाथा।हालांकिवहइसपदपर21अक्टूबर2001तकहीरहे।30अक्टूबरसेएकमार्च2002तकभगतसिंहकोश्यारीराज्यकेमुख्यमंत्रीरहे।2002मेंपहलीविधानसभाकेलिएहुएचुनावोंमें70मेंसे36सीटोंपरविजयप्राप्तकरकांग्रेससबसेबड़ीपार्टीकेरूपमेंसामनेआईथी।पार्टीहाईकमाननेसांसदनारायणदत्ततिवारीकोराज्यकीबागडोरसौंपीथी।तबरामनगरक्षेत्रसेविजयीयोगंबरसिंहरावतनेतिवारीकेलिएअपनीविधानसभासदस्यतात्यागी।बादमेंइससीटपरउपचुनावजीतनेकेबादएनडीनेपूरेपांचसालतकसहजहोकरसरकारचलाई।

2007केचुनावमें35सीटोंकेसाथभाजपासबसेबड़ीपार्टीकेरूपमेंउभरी।बादमेंउत्तराखंडक्रांतिदलसहिततीननिर्दलीयोंकीमददसेपार्टीहाईकमाननेमेजरजनरल(सेवानिवृत्त)सांसदभुवनचंद्रखंडूड़ीकोनेतृत्वसौंपा।उनकेलिएधूमाकोटसीटसेकांग्रेसकेटिकटपरनिर्वाचितले.जनरल(सेवानिवृत्त)तेजपालसिंहरावतनेत्यागपत्रदिया,जहांसेउपचुनावजीतखंडूड़ीसदनकेसदस्यबने।2012केचुनावोंकेबादराज्यनेअजबहालदेखा।इसचुनावमेंकांग्रेसको32वभाजपाको31सीटोंपरविजयहासिलहुईथी।

बीएसपीवउक्रांद(पी)केनिर्वाचितसदस्योंकीमददसेबहुमतजुटाकरकांग्रेसआलाकमाननेसदनकानेतृत्वसांसदविजयबहुगुणाकोसौंपा।सितारगंजकेविधायककिरणमंडलनेउनकीखातिरत्यागपत्रदिया।इससीटपरहुएउपचुनावमेंविजयहासिलकरविजयसिर्फदोसालहीसरकारचलासके।2014मेंपार्टीआलाकमानसेनेतृत्वकीहरीझंडीमिलनेकेबादहरीशरावतकेलिएहरीशधामीनेधारचूलासीटछोड़ी।इसतरहएकबारफिरउपचुनावकेबादसरकारकीगाड़ीआगेचली।

तीरथकेसमयटलगईथीऐसीस्थिति

चौथीविधानसभाकेगठनकेलिए2017मेंहुएचुनावोंमेंभाजपा57सीटोंकेसाथसबसेबड़ीपार्टीबनीथी।हालांकित्रिवेंद्रसिंहरावतवतीरथसिंहरावतकेबादमुख्यमंत्रीकामुकुटपुष्करसिंहधामीकेसिरपरस्थिररहा।यहबातअलगहैकित्रिवेंद्रकेबादसीएमबनाएगएसांसदतीरथकेसदनकासदस्यबनानेकेलिएउपचुनावहोते-होतेटला,क्योंकिराज्यकीबागडोरएकाएकधामीकेहाथचलीगई।