विशेषज्ञों ने कोविड-19 के राष्ट्रीय पोषण मिशन पर पड़ रहे प्रभावों पर ध्यान देने की जरूरत बताई

(उज्मीअतहर)नयीदिल्ली,पांचसितंबर(भाषा)देशइसमहीनेको‘पोषणमाह’केतौरपरमनारहाहैऔरइसबीचस्वास्थ्यसेवाविशेषज्ञोंनेराष्ट्रीयपोषणमिशनपरकोविड-19केअसरपरध्यानदेनेकेलिएतत्कालकदमउठानेकीजरूरतबताईहै।विशेषज्ञोंकाकहनाहैकिमहामारीकीवजहसेबच्चोंऔरगर्भवतीमहिलाओंकास्वास्थ्यप्रभावितहोसकताहैक्योंकिउनकेकुपोषितहोनेकासबसेअधिकखतराहै।उल्लेखनीयहैकिसरकारसितंबरमें‘पोषणमाह’मनारहीहैऔरइसदौरानकुपोषितबच्चों,गर्भवतीमहिलाओंऔरस्तनपानकरानेवालीमाताओंसेजुड़ेमुद्दोंकेप्रतिजागरूकताफैलानेकेलिएकईकार्यक्रमआयोजितकिएजाएंगे।विशेषज्ञोंने‘पीटीआई-भाषा’सेबातकरतेहुएकहाकियहसमयसभीहितधारकोंकेतत्कालमिलकरकामकरनेकाहै।उन्होंनेकहाकिएकओरखाद्यसुरक्षासुनिश्चितकरनेकीजरूरतहै,तोदूसरीओरसमुदायमेंसहीपोषणवालेभोजनकोप्रोत्साहितकरनेकीजरूरतहै।विशेषज्ञोंनेकहाकिपोषणमाहसेपरेप्रणालीकोमजबूतकरऔरसमुदायस्तरपरव्यवहारबदलनेकीस्थायीरणनीतिसेनतीजेआसकतेहैं।कोअलिशनफॉरफूडऐंडन्यूट्रिशनसिक्युरिटी(सीएफएनएस)केकार्यकारीनिदेशकसुजीतरंजननेकहाकिकोविड-19केप्रसारकाअसरदेशकीसबसेसंवेदनशीलआबादीकेस्वास्थ्य,पोषण,जीविकोपार्जनऔरसेहतपरपड़ाहैऔरलंबेसमयतकलोगोंपरइसकाअसररहेगा।उन्होंनेकहा,‘‘कोविड-19कोनियंत्रितकरनेकेलिएउठाएगएकदमोंकाएकनकारात्मकपक्षरहाकिप्राथमिकस्कूलऔरआंगनवाड़ीकेंद्रबंदहोगएजिससेग्रामीणभारतकेबच्चोंकोएकसमयनिश्चितरूपसेमिलनेवालाभोजननहींमिला।इससेभारतमेंबालकुपोषणकीसमस्याऔरबदतरहोनेकीआशंकाहै।’’इंडियनएसोसिएशनऑफप्रिवेंटिवऐंडसोशलमेडिसिन(आईएपीएसएम)केमातृ,शिशुऔरबालपोषणकेमानदसचिवखानअमिरमारूफनेकहाकिबच्चोंऔरगर्भवतीमहिलाओंकास्वास्थ्यसबसेअधिकप्रभावितहोसकताहैक्योंकिवेकुपोषणकेमामलेमेंसबसेसंवेदनशीलहैं।उन्होंनेकहा,‘‘खानेकीगुणवत्तापूर्णऔरमात्रात्मकउपलब्धतामेंकमीचिंताकाविषयहै।सूक्ष्मऔरवृहदपोषकतत्वोंकीकमीकाअसरउनपरहोगा।अल्पकालमेंवेअल्प-पोषित(कमवजनकेसंदर्भमें)होंगेजिससेउनकेदस्तऔरश्वांसरोगआदिसेसंक्रमितहोनेकाखतराबढ़ेगा।’’मारूफनेकहाकिगर्भवतीमहिलाओंकेकमपोषितहोनेकाखतरासबसेअधिकहैक्योंकिइसदौरानउनकोपोषणकीसबसेअधिकजरूरतहोतीहैजोमहामारीकेदौराननहींमिलपारहाहै।अलाइवऐंडथ्राइवइंडियाकीकार्यक्रमनिदेशकसेबंतीघोषनेकहाकिमहामारीऔरलॉकडाउनकीवजहसेगर्भवतीमहिलाओंऔरबच्चोंकेपोषणएवंस्वास्थ्यमेंहुआअबतककासुधारफिरसेपुरानीस्थितिमेंजासकताहै।एम्समेंसामुदायिकचिकित्साकेंद्रकेपूर्वप्रमुखचंद्रकांतपांडवनेकहाकिभारतमेंकोविड-19केप्रभावकोकमकियाजासकताहै।इसकेलिएसमाजकेसमर्थनऔरसहयोगकीजरूरतहै।