यूपी: तीन दशक बाद कोऑपरेटिव से मुलायम परिवार का वर्चस्व खत्म, BJP ने दर्ज की बंपर जीत

लखनऊ:उत्तरप्रदेशमेंसत्तारूढ़बीजेपीकेलिएयहजश्नकामौकाहैक्योंकिपार्टीऔरउसकेसमर्थितउम्मीदवारोंनेउत्तरप्रदेशसहकारीभूमिविकासबैंकोंकेचुनावोंमें311मेंसे281सीटेंजीतलीहैं.इसकेलिएमंगलवारकोमतदानहुआथा.विपक्षमेंमुख्यरूपसेसमाजवादीपार्टीनेभीकुछसीटेंजीतींहैं.इनचुनावोंकेलिएचुनावआयुक्तपी.के.मोहंतीनेकहाकिशिकायतोंकेचलते11जगहोंपरचुनावरद्दकिएगएथे.

इस'ऐतिहासिकजीत'कोलेकरबीजेपीनेताओंनेदावाकियाहैकिविपक्षीउम्मीदवारोंनेचुनावलड़नेकीहीहिम्मतनहींकी.वहींविपक्षनेकहाकिकिराज्यकीमशीनरीनेचुनावोंकोहाइजैककरलियाथा.

कांग्रेसअमेठीकेजगदीशपुरमेंहीजीतदर्जकरासकी

कांग्रेसगांधीपरिवारकीपरंपरागतसीटअमेठीकेजगदीशपुरमेंहीजीतदर्जकरासकी,जहांराहुलगांधी2019केलोकसभाचुनावमेंस्मृतिईरानीसेहारगएथे.विपक्षीदलोंद्वाराजीतीगईअन्यप्रतिष्ठितसीटोंमेंवाराणसी,बलिया,गाजीपुरऔरइटावाथीं.

मुलायमपरिवारकोझटका

2005सेतीनबारबैंककेअध्यक्षरहचुकेप्रगतिवादीसमाजवादीपार्टीलोहिया(पीएसपीएल)केअध्यक्षऔरमुलायमसिंहयादवकेभाईशिवपालयादवनेकहाकिबीजेपीसरकारनेनियमोंमेंबदलावकियाजिसनेउन्हेंचुनावलड़नेमेंअयोग्यघोषितकरदिया.उन्होंनेकहा,"अध्यक्षपदकेलिएदोबारसेज्यादाचुनावलड़नाअबवर्जितहै,जोकिअलोकतांत्रिकहै."

बतादेंकि1991सेअबतकसहकारिताकेक्षेत्रमेंसमाजवादीपार्टीऔरमुलायमसिहयादवपरिवारकावर्चस्वरहाहै.यहांतककिमायावतीकेदौरमेंभीसहकारीग्रामीणविकासबैंकपरइसीपरिवारकादबदबारहा.